Jaipur: राजस्थान में खिला दुनिया का सबसे दुर्लभ कमल का फूल, जानें खासियत
Jaipur News in Hindi

Jaipur: राजस्थान में खिला दुनिया का सबसे दुर्लभ कमल का फूल, जानें खासियत
जयपुर में कमल प्रेमी हर्ष की छत पर खिला 'सुपर लोट्स'.

पेशे से होटल व्‍यवसायी हर्ष कमल के फूल (Lotus flower) की करीब 40 दुर्लभ प्रजातियों की जयपुर में ही पैदावर कर रहे हैं. इनमें दो प्रजाति बेहद दुर्लभ हैं, जो पूरे भारत में सिर्फ 4 जगह ही पाई जाती है.

  • Share this:
जयपुर. कोरोना काल में जहां हर तरफ रोज़ तकलीफदेह खबरें सामने आ रही हैं, वहीं जयपुर के एक नौजवान ने इस अवधि में पूरे उत्तर भारत में एक अनोखा रिकॉर्ड बनाने का दावा पेश किया है. पेशे से होटल व्‍यवसायी हर्ष कमल के फूल (Lotus flower) की करीब 40 प्रजातियों की जयपुर में ही पैदावर कर रहे हैं. इनमें दो प्रजाति बेहद दुर्लभ हैं, जो पूरे भारत में सिर्फ चार जगह ही पाई जाती है.

घर की छत पर 35 से 40 किस्मों के कमल लगाए
कमल का फूल कीचड़ में खिलता है या फिर कमल का फूल का देश की रूलिंग पार्टी बीजेपी का निशान है. राजस्थान में गर्मियां ज्यादा होने की वजह से कहीं कहीं ही कमल के ये फूल देखने को मिलते हैं, क्योंकि इसके खिलने के लिए मौसम थोड़ा नमी वाला चाहिए. लेकिन, जयपुर के रहने वाले हर्ष ने अपने घर की छत पर 35 से 40 किस्मों के कमल लगाए हैं. ये कमल कीचड़ में नहीं, बल्कि पानी में खिले हैं.

Rajasthan Weather Alert: आज अजमेर और भीलवाड़ा समेत 5 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी, येलो अलर्ट जारी
दो किस्म बेहद दुर्लभ हैं


हर्ष पेशे से होटल के बिजनेस में हैं, लेकिन कोरोना काल के चलते पिछले चार महीने से यह ठप पड़ा है और वह घर पर ही हैं. हर्ष पिछले पांच साल से कमल के फूलों पर मेहनत कर रहे हैं. उनकी 40 किस्मों में दो किस्म बेहद दुर्लभ हैं. सुपर लोटस और थाउजेंड पीटल्‍स देश-दुनिया के चुनिंदा हिस्सों में ही पाये जाते हैं. हर्ष का दावा है कि थाउजेंड पीटल्‍स राष्ट्रपति भवन के बाद पूरे उत्तर भारत में सिर्फ उनके पास ही है. हर्ष को उम्मीद है कि बहुत जल्द ये कमल खिलेगा और एक कमल के फूल में हज़ार पत्तियां निकलेंगी.

Dungarpur: जिस भाई की हत्‍या के मामले में जेल में बंद हैं दो शख्‍स वह 6 महीने बाद घर लौटा, किसने रची साजिश?

थाउजेंड पीटल्‍स के खिलने का इंतज़ार
कोरोना काल में हर्ष ने घर बैठे पूरी छत पर कमल के फूलों पर मेहनत की. 40 के करीब ये किस्में एक साथ पूरे उत्तर भारत में कहीं नहीं हैं. हर्ष देश में कमल विशेषज्ञों के लगातार संपर्क में हैं और उनसे राय मशविरा करते रहते हैं. कमाल की बात ये है कि राजस्थान की इस गर्मी में उन्होने अपने घर की छत पर ही कमल के फूलों का बगीचा लगा दिया. दिन रात बच्चों की तरह देखभाल की और अब उन्हें थाउजेंड पीटल्‍स के खिलने का इंतज़ार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading