अपराध के इन मामलों ने बढ़ाई खाकी व सरकार की मुश्किलें, देना पड़ा जवाब

प्रदेश में लगातार बढ़ रहे अपराध पर इस बार विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ है. अवैध बजरी खनन और बजरी माफियाओं के आतंक से लेकर चूरू में हिरासत में मौत व राजसमंद में हेड कांस्टेबल की हत्या समेत विभिन्न मामलों में विपक्ष सरकार पर हमलावर रहा.

News18 Rajasthan
Updated: July 18, 2019, 5:32 PM IST
अपराध के इन मामलों ने बढ़ाई खाकी व सरकार की मुश्किलें, देना पड़ा जवाब
राजस्थान विधानसभा। फाइल फोटो।
News18 Rajasthan
Updated: July 18, 2019, 5:32 PM IST
प्रदेश में लगातार बढ़ रहे अपराध पर इस बार विधानसभा में जमकर हंगामा हुआ है. अवैध बजरी खनन और बजरी माफियाओं के आतंक से लेकर चूरू में पुलिस हिरासत में मौत और राजसमंद में हेड कांस्टेबल की सरेराह हत्या समेत विभिन्न मामलों में विपक्ष सरकार पर हमलावर रहा. अपराधों पर घिरी सरकार को सदन में इन पर जवाब देना पड़ा.

ये मामले ज्यादा रहे चर्चा में  
प्रदेश में पिछले कुछ समय में गंभीर किस्म के अपराधों में बढ़ोतरी हुई है. इनकी शुरूआत अलवर गैंगरेप केस से हुई थी. अलवर केस की गूंज राष्ट्रीय स्तर पर सुनाई दी. उसके बाद हाल ही में चूरू पुलिस की हिरासत में आरोपी युवक नेमीचंद नायक की मौत और उसके बाद राजसमंद में ड्यूटी पर कार्यरत हेड कांस्टेबल अब्दुल गनी की सरेराह हत्या ने पुलिस के साथ सरकार की मुश्किलें भी बढ़ा दी थी.

कार्रवाई में जुटी रही सरकार

खाकी की दिनोंदिन गिरती साख को बचाने के लिए राज्य सरकार ने चाहे वह अवैध बजरी खनन का मामला हो या फिर पुलिस हिरासत में मौत. सभी मामलों में जिम्मदार पुलिसकर्मियों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई कर विपक्ष के हमलों का जवाब देने की कोशिश की है. बावजूद इसके विपक्ष ने सरकार को अपराध के मामले में घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ी. इस दौरान पक्ष-विपक्ष ने एक दूसरे पर जमकर वार-पलटवार किए.

विपक्ष के जवाब के साथ पुलिस की पीठ थपथपाने का प्रयास
विधानसभा में सरकार को घेरते हुए नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि 4 महीने में अपराधों का ग्राफ 36 प्रतिशत और महिला अपराध 47 फीसदी बढ़ गए हैं. अपराध के मामलों पर मचे बवाल के बीच कैबिनेट मंत्री शांति धारीवाल ने इन पर सदन में स्टेटमेंट दिया. वहीं धारीवाल ने जयपुर में हरियाणा की अपहरण गैंग के खुलासे पर पुलिस की पीठ भी थपथपाने का प्रयास किया.
Loading...

सरकार ने यह दिया जबाव
पुलिस हिरासत में आरोपी युवक की मौत- मामले की जांच न्यायिक अधिकारी द्वारा करवाई जा रही है. थानाधिकारी समेत 8 पुलिसकर्मियों को निलंबित और 19 पुलिसकर्मियों को लाइन हाजिर किया गया है. पुलिस अधीक्षक और वृत्ताधिकारी को भी एपीओ किया गया है.

राजसमंद में हेड कांस्टेबल की हत्या- 6 में से 4 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया जा चुका है. अनुसंधान जारी है.

इस केस में थपथपाई पुलिस की पीठ
हरियाणा की अपहरण गैंग का खुलासा- घटना की सूचना मिलने पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची. 400 पुलिसकर्मियों ने पूरी रात 600 फ्लैट्स की तलाशी ली. मंत्री धारीवाल ने कहा विपक्ष को इस बात की सराहना करनी चाहिए कि रात को 2 बजे पुलिस बदमाशों को पकड़ने पहुंची.

राजस्थान में प्रत्येक व्यक्ति पर 40 हजार रुपए का कर्ज

खासाकोठी से कालीन चोरी प्रकरण की सरकार करवाएगी जांच !
First published: July 18, 2019, 5:25 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...