रणथंभौर में बाघों की बीच ‘टैरेटोरियल फाइट’ बन सकती है खतरे की घंटी

रणथंभौर में काफी चर्चा में रहा बाघ टी-104 फिर से जोन 6-में लौट आया है. इस बाघ को पर्यटकों के एक दल ने अपने कैमरों कैद किया है.

Arbaaz Ahmed | News18 Rajasthan
Updated: August 24, 2019, 9:17 AM IST
रणथंभौर में बाघों की बीच ‘टैरेटोरियल फाइट’ बन सकती है खतरे की घंटी
जोन-6 में लौटा टी-104, बाघों के बीच ‘टैरेटोरियल’ फाइट की संभावना बढ़ी
Arbaaz Ahmed | News18 Rajasthan
Updated: August 24, 2019, 9:17 AM IST
रणथंभौर में काफी चर्चा में रहा बाघ टी-104 फिर से जोन 6-में लौट आया है. इस बाघ को पर्यटकों के एक दल ने अपने कैमरों कैद किया है. अभी कुछ दिनों पहले ही रणथंभौर बाघ परियोजना(Ranthambore Tiger Project) के अंतर्गत आने वाले कैलादेवी अभ्यारण(Kailadevi Sanctuary) में बाघ के हमले में रूपसिंह माली नाम के एक व्यक्ति की मौत हो गई थी. अंदेशा है कि रूपसिंह पर हमला टी-104 (T-104 tiger) ने ही किया था, हालांकि इस बारे में अब तक कोई पुष्टि नहीं हो सकी है.

बाघ टी 104 की जोन 6 में हुई वापसी

बाघों के बीच होने वाली वर्चस्व की लड़ाई के चलते टी-104 इस इलाके से बाहर चला गया था. अब ये बाघ फिर से जोन 6 में आया है. पर्यटकों (tourist)ने जब इसे अपने कैमरे में कैद किया तो बाघ कुछ चिड़चिड़ा नजर आ रहा था. बाघ के जोन 6 (tiger zone)में दाखिल होने से यहां टाइगर के आपसी टकराव की संभावना बढ़ गई है. इस जोन में पहले से कुछ बाघ मौजूद है. टी 34 बाघ जिसे कुंभा के नाम से भी जाना जाता है इसी इलाके में है. ऐसे में कुंभा के साथ टी-104 के टकराव की संभावना बढ़ गई है. इसके अलावा और आगे बढ़ने पर इसे टी-57 और टी-58 का सामना भी करना पड़ सकता है.

क्षमता से ज्यादा बाघ होने से बढ़ रहा है खतरा
क्षमता से ज्यादा बाघ होने से बढ़ रहा है खतरा


बाघों की बीच ‘टैरेटोरियल फाइट’ बन सकती है खतरे की घंटी

यही नहीं जोन-6 में ही टी-8 नाम की बाघिन अपने दो शावकों जय और वीरू के साथ मौजूद है. जाहिर है कि वयस्क बाघों के संघर्ष में इन बाघ शावकों पर भी खतरा बना हुआ है. सीमित क्षेत्र में बाघों की संख्या बढ़ जाने से रणथंभौर में बाघों की शिफ्टिंग(shifting of tiger) करना जरूरी दिखाई दे रहा है. अन्यथा टैरिटोरियल फाइट(Territorial Fight) में न केवल बाघों की जान को खतरा है बल्कि इंसान व बाघ के बीच टकराव की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता.

यह भी पढ़ें- सफेद बाघ-बाघिन की संख्या बढ़ाने के लिए साथ रहेंगे 'राजा और सीता'

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 24, 2019, 8:27 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...