लाइव टीवी

राजस्थान की ट्रांसपोर्ट यूनियनों का फैसला, कोई भी ट्रक कश्मीर नहीं भेजेंगे, पहले सरकार सुरक्षा उपलब्ध कराए

News18 Rajasthan
Updated: October 26, 2019, 12:50 PM IST
राजस्थान की ट्रांसपोर्ट यूनियनों का फैसला, कोई भी ट्रक कश्मीर नहीं भेजेंगे, पहले सरकार सुरक्षा उपलब्ध कराए
जयपुर ट्रक व ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष गोपाल सिंह ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी गई तो कभी भी ट्रकों की हड़ताल की जा सकती है. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

राजस्थान (Rajasthan) की सभी ट्रक व ट्रांसपोर्ट यूनियनों (Truck & Transport Unions) ने फैसला (Decision) किया कि राज्य से न तो कोई ट्रक कश्मीर (Kashmir) जाएगा न ही वहां से माल लाएगा. राजस्थान ट्रक ऑपरेटरों ने कहा जब तक केंद्र सरकार (Central government) उन्हें सुरक्षा (Security) उपलब्ध नहीं करवाएगी तब तक वे अपने ट्रक जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) नहीं भेजेंगे.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान (Rajasthan) की सभी ट्रक व ट्रांसपोर्ट यूनियनों (Truck & Transport Unions) ने फैसला (Decision) किया कि राज्य से न तो कोई ट्रक कश्मीर (Kashmir) जाएगा न ही वहां से माल लाएगा. राजस्थान ट्रक ऑपरेटरों ने कहा जब तक केंद्र सरकार (Central government) उन्हें सुरक्षा (Security) उपलब्ध नहीं करवाएगी तब तक वे अपने ट्रक जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) नहीं भेजेंगे. ट्रक ऑपरेटरों ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) और गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) से मांग करते हुए कहा है कि आतंकवादियों (Terrorists) की गोली के शिकार हुए ट्रक चालकों को शहीद (Martyr) का दर्जा दे और उनके परिवार को सरकारी नौकरी (Government Job) तथा मुआवजा (Compensation) उपलब्ध करवाए.

कभी भी ट्रकों की हड़ताल की जा सकती है
जयपुर ट्रक व ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष गोपाल सिंह ने चेतावनी दी कि यदि उनकी मांगें नहीं मानी गई तो कभी भी ट्रकों की हड़ताल की जा सकती है. बकौल गोपाल सिंह इस संबंध में शुक्रवार को ट्रक व ट्रांसपोर्ट यूनियनों की बैठक हुई. बैठक में यह तय किया गया कि जब तक केन्द्र सरकार उनके ट्रकों के चालकों और परिचालकों को सुरक्षा उपलब्ध नहीं कराएगी तब तक वे जम्मू कश्मीर का कोई माल हम नहीं उठाएंगे. जिन ट्रक चालकों और परिचालक की कश्मीर में नृशंस हत्या की गई उसके खिलाफ जनआंदोलन किया जाएगा.



गुरुवार रात को आतंकवादियों ने की थी दो लोगों की हत्या
उल्लेखनीय है कि गत दो सप्ताह के भीतर राजस्थान के दो ट्रक चालकों और एक परिचालक की जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी है. आतंकवादियों की गोली के शिकार हुए तीनों चालक और परिचालक राजस्थान के मेवात इलाके रहने वाले थे. इनमें अलवर जिले के किशनगढ़बास क्षेत्र के खोहाबास निवासी ट्रक चालक इलियास खान और भरतपुर के पहाड़ी इलाके के पापड़ा गांव निवासी परिचालक जाहिद खान की कश्मीर के शोपियां में आतंकवादियों गुरुवार देर रात को गोली मारकर हत्या कर दी थी. दोनों ट्रक से कश्मीर में आर्मी के लिए दूध लेकर गए और वापसी में सेब लेकर आ रहे थे. इसी दरम्यिान आतंकवादियों ने उन पर हमला कर दोनों को गोली मार दी, जिससे उनकी मौत हो गई. उसके बाद आतंकवादियों ने उनके ट्रक को भी आग लगा दी थी.

14 अक्टूबर को उभाका के ट्रक चालक शरीफ खान की हत्या की थी
Loading...

वहीं इससे करीब 10 दिन पहले गत 14 अक्टूबर को भी भरतपुर जिले के ही एक ट्रक चालक शरीफ खान की जम्मू-कश्मीर के शोपियां में आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. शरीफ भरतपुर जिले के पहाड़ी थाना इलाके के उभाका गांव का रहने वाला था. वो जम्मू-कश्मीर सेब लेने गया था. वहां दो आतंकवादियों ने गोली मारकर उसकी हत्या कर दी थी.

कश्मीर में मारे गए चालक और परिचालक के शव पहुंचे, परिजनों ने लेने से किया इनकार

कश्मीर में भरतपुर के ट्रक ड्राइवर के हेल्पर की भी आतंकियों ने की हत्या

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 26, 2019, 11:08 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...