ग्राउंड रिपोर्ट से सीएम वसुंधरा खुश, मेवाड़ के लिए बनाई जा रही खास रणनीति

फाइल फोटो.
फाइल फोटो.

राजस्थान की राजधानी जयपुर स्थित भारतीय जनता पार्टी मुख्यालय में मंगलवार को लोकसभा और विधानसभा चुनावों के लिए मिशन 180 और मिशन 25 के लिए मंथन बैठक का दूसरा और अंतिम दिन था.

  • Share this:
राजस्थान की राजधानी जयपुर स्थित भारतीय जनता पार्टी मुख्यालय में मंगलवार को लोकसभा और विधानसभा चुनावों के लिए मिशन 180 और मिशन 25 के लिए मंथन बैठक का दूसरा और अंतिम दिन था. बैठक में भाजपा विधायकों और सांसदों ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के सामने ग्राउंड रिपोर्ट कार्ड पेश किया. सीएम भी सांसदों—विधायकों की रिपोर्ट से काफी खुश नजर आईं. हालांकि कुछ सांसदों के की गैरमौजूदगी भी चर्चा का विषय रही.

जानकारी के अनुसार सीएम राजे, प्रदेश प्रभारी अविनाश राय खन्ना, राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री वी सतीश और प्रदेश अध्यक्ष अशोक परनामी सुबह से बैठकों में व्यस्त रहे. सुझाव, निर्देश, फीडबैक और ग्राउंड रिपोर्ट की बारीकी से पड़ताल की गई. अच्छा काम ठोस परिणाम के ध्येय वाक्य की दिक्कतें पहचानी गईं. अलवर औऱ बाड़मेर लोकसभा क्षेत्र की बैठक में अपने ही सांसद के खिलाफ विधायकों के तीखे तेवर नजर आए. सांसद और विधायकों के बीच समन्वय बनाने और एमपी-एमएलए फंड़ के बेहतर इस्तेमाल की नसीहतें दी गईं. मंगलवार को जयपुर देहात, अलवर, भरतपुर, बांसवाड़ा, उदयपुर, जालौर, चितौड़, राजसमंद,कोटा,अजमेर,बाड़मेर,टोंक, सवाई माधोपुर की बैठकें हुईं. सोमवार को पहले दिन 13 लोकसभा क्षेत्रों की बैठकें हुई थीं.
दूसरे और अंतिम दिन बैठकों के दौर में मेवाड़ और वागड़ पर विशेष फोकस रहा.राजनीतिक हलकों में यह कहा जाता है कि मेवाड़ जीता तो राजस्थान जीता. लिहाजा उदयपुर, बांसवाड़ा, राजसमंद और चितौड़ लोकसभा क्षेत्र को लेकर विशेष रणनीति बनाई गई और वहां के जनप्रतिनिधियों को विशेष निर्देश दिए गए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज