कार में फंसी थी मां-बेटे की जिंदगी, पुलिस ने जान जोखिम में डालकर बचाया

जयपुर में पुलिस ने बहादुरी दिखाते हुए नाले के अंदर गिरी कार में फंसे लोगों को सकुशल बहार निकाला.

Mahendra Singh | News18 Rajasthan
Updated: August 11, 2019, 4:06 PM IST
Mahendra Singh | News18 Rajasthan
Updated: August 11, 2019, 4:06 PM IST
राजस्थान की राजधानी जयपुर में शिप्रापथ थानाधिकारी सुरेंद्र यादव की बहादुरी के बाद अब मानसरोवर थाना पुलिस की पीसीआर ने बहादुरी दिखाई, जहां नेशनल हाइवे पर तेज दौड़ती एक कार बेकाबू होकर नाले में जा गिरी, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने बहादुरी दिखाते हुए नाले के अंदर गिरी कार में फंसे लोगों को सकुशल बहार निकाल लिया.

अनियंत्रित होकर नाले में लुढ़की कार

जानकारी के मुताबिक शनिवार रात तेज रफ्तार से आ रही कार अनियंत्रित होकर पलट गई और लुढ़क कर नाले में जा फंसी. इस दौरान कार नाले में डूबने ही वाली थी, लेकिन सूचना पर समय रहते मानसरोवर थाने की पीसीआर मौके पर पहुंची और तुरंत संजय हेड कॉन्स्टेबल, विनोद यादव कॉन्स्टेबल और महेंद्र पाल कॉन्स्टेबल ने गाड़ी को सपोर्ट कर अंदर फंसे युवती और एक बच्चे को सकुशल बहार निकाल लिया. इस तरह पुलिस ने समय रहते अपनी कुशलता से कई जाने बचा लीं.

कार लुढ़क कर नाले में जा फंसी, पुलिस ने लोगों को बचाया
कार लुढ़क कर नाले में जा फंसी, पुलिस ने लोगों को बचाया


पुलिस ने कार में फंसे लोगों को निकाला बाहर

पुलिस ने रेस्क्यू कर कार में फंसे लोगों को निकाला बाहर
पुलिस ने कार में फंसे लोगों को निकाला बाहर


गौरतलब है कि जिस प्रकार शिप्रापथ थानाधिकारी सुरेंद्र यादव ने जिस प्रकार अपनी बहादुरी से द्रव्यवती नदी में कूदी महिला की जान बचाकर मानवता का परिचय दिया था. उसी तरह यहां भी पुलिस पीसीआर के चार सिपाहियों ने कार में फंसी युवती और बच्चे की जान बचाकर अपने फर्ज के साथ-साथ सच्ची मानवता का परिचय दिया. पुलिस के इस सराहनीय कार्य लोगों को प्रेरित करेगी, तो वहीं पुलिस के प्रति आमजन की सोच में भी बदलाव आएगा.
Loading...

यह भी पढ़ें- बहादुरी को मिला मान, बच्चों ने मासूम को दरिंदगी से बचाया, पुलिस ने किया सम्मान
First published: August 11, 2019, 3:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...