Union Budget 2019 : सीएम गहलोत और डिप्टी सीएम पायलट ने बजट को बताया निराशाजनक

सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और महंगाई बढ़ाने वाला बताया है. सीएम गहलोत ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि NDA सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट दिशाहीन है. बजट का उद्देश्य साफ नहीं है.

News18 Rajasthan
Updated: July 5, 2019, 11:33 PM IST
Union Budget 2019 : सीएम गहलोत और डिप्टी सीएम पायलट ने बजट को बताया निराशाजनक
सीएम अशोक गहलोत एवं डिप्टी सीएम सचिन पायलट। फाइल फोटो।
News18 Rajasthan
Updated: July 5, 2019, 11:33 PM IST
सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने केंद्रीय बजट को निराशाजनक और महंगाई बढ़ाने वाला बताया है. सीएम गहलोत ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि एनडीए सरकार के दूसरे कार्यकाल का पहला बजट दिशाहीन है. बजट का उद्देश्य साफ नहीं है और यह हताशाजनक है. बजट में अर्थव्यस्था की प्रगति के लिए कोई ठोस प्लान और हल पेश नहीं किया गया और न ही रोजगार सृजन व निवेश बढ़ाने के लिए कोई कार्य योजना पेश की है.

गांव गरीब और किसान महज एक नारे के तौर पर इस्तेमाल किया
गहलोत ने कहा कि बजट में गांव गरीब और किसान महज एक नारे के तौर पर इस्तेमाल किए गए हैं. किसानों की समस्याओं के लिए कोई योजना पेश नहीं की है. मध्यम वर्ग और नौकरी पेशा को कोई राहत नहीं दी गई है. ऊपर से पेट्रोल-डीजल की कीमतें बढ़ाकर जनता पर अतिरिक्त बोझ डाल दिया गया है. बजट भाषण में कृषि का कोई उल्लेख नहीं करना यह साबित करता है कि यह सरकार ग्रामीण क्षेत्र की दशा सुधारने के लिए गंभीर नहीं है. वित्त मंत्री ने बजट के बहुत से प्रावधानों का अपने भाषण में उल्लेख नहीं किया है.

Union Budget 2019 : केन्द्रीय बजट- 2019
सीएम ने ट्वीट कर दी प्रतिक्रिया।


आम जनता के हितों पर कुठाराघात करने वाला बजट
डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने भी ट्वीट कर बजट पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि केंद्र सरकार द्वारा पेश किया गया आम बजट 2019-20 महंगाई बढ़ाने वाला और आमजनता के हितों पर कुठाराघात करने वाला है. NDA सरकार ने 2025 में 350 लाख करोड़ की अर्थव्यवस्था का वादा किया है, जिसे देखते हुए GDP दर 11% होनी चाहिए जबकि सरकार ने बजट मे GDP दर का लक्ष्य मात्र 7% रखा है.

मुद्दों के विकास को लेकर कोई प्रावधान स्पष्ट नहीं है
Loading...

पायलट ने कहा कि गांव, गरीब और किसान जैसे नारे को बजट में प्राथमिकता दी गई है, लेकिन वास्तविकता में उक्त वर्गों व मुद्दों के विकास को लेकर कोई प्रावधान स्पष्ट नहीं है. किसान की उपज का एमएसपी पर खरीद का तंत्र विकसित करने की कोई नीति भी बजट में दिखाई नहीं देती है.

Union Budget 2019 : केन्द्रीय बजट- 2019
डिप्टी सीएम पायलट ने किया ट्वीट।


पुलिस बेड़े में बदलाव, 38 IPS के तबादले, 14 SP बदले

IPS की तबादला सूची: बजरी के दाग धोने की कवायद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 5, 2019, 11:21 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...