Home /News /rajasthan /

कांग्रेस में एकता के दावों के बावजूद चुनावी कमेटियों के अटकने से उठने लगे सवाल

कांग्रेस में एकता के दावों के बावजूद चुनावी कमेटियों के अटकने से उठने लगे सवाल

फोटो: न्यूज18 राजस्थान

फोटो: न्यूज18 राजस्थान

कांग्रेस में बड़े नेताओं के एकजुटता के दावों के बावजूद चुनावी कमेटियों पर अभी तक सर्वसम्मति नहीं बन पा रही है. पिछले तीन माह से चुनावी कमेटियों की घोषणा अटकी हुई है.

    कांग्रेस फील्ड में भले ही चुनावी तैयारियों में जुट गई हो, लेकिन बंद कमरों में होने वाले चुनावी फैसलों में देरी हो रही है. कांग्रेस में बड़े नेताओं के एकजुटता के दावों के बावजूद चुनावी कमेटियों पर अभी तक सर्वसम्मति नहीं बन पा रही है. पिछले तीन माह से चुनावी कमेटियों की घोषणा अटकी हुई है.

    कांग्रेस के बड़े नेता जुलाई के शुरू में ही चुनावी कमेटियों की घोषणा का दावा कर रहे थे, लेकिन अब तक उसके क्रियान्वयन का इंतजार है. राहुल गांधी राजस्थान दौरों में कई बार बड़े नेताओं के एक होने का दावा कर चुके हैं, लेकिन एकता के इन दावों पर भी अब सवाल उठ रहे हैं. चुनावी कमेटियों के अटकने के पीछे बड़े नेताओं की खींचतान को जिम्मेदार बताया जा रहा है. कांग्रेस ने 22 जून को ही कुमारी शैलजा की अध्यक्षता में स्क्रीनिंग कमेटी का गठन कर दिया था. उस समय प्रदेश प्रभारी सहित कई बड़े नेताओं ने बची हुई चुनावी कमेटियों का गठन जुलाई तक करने का दावा किया था. स्क्रनिंग कमेटी का गठन हुए तीन माह हो गए, लेकिन प्रदेश चुनाव समिति यानी पीईसी सहित सात चुनावी कमेटियों का गठन अब तक नहीं हो पाया है.

    ज्यादा खींचतान चुनाव अभियान और प्रदेश चुनाव समिति को लेकर है
    कांग्रेस के जानकार सूत्रों के मुताबिक प्रदेश के बड़े नेताओं की आपसी खींचतान चुनावी कमेटियों के अटकने का बड़ा कारण है. पिछले तीन माह में कई बार चुनावी समितियों पर दिल्ली में हुई बैठकों में चर्चाएं हो चुकी हैं, लेकिन नतीजा कुछ नहीं निकला. बताया जाता है कि कुछ बड़े नेता चुनावी कमेटियों के नामों पर अड़े हुए हैं. सबसे ज्यादा खींचतान चुनाव अभियान समिति और प्रदेश चुनाव समिति को लेकर बताई जा रही है.

    ये भी पढ़ें- स्वाभिमान रैली: बीजेपी विधायक मानवेन्द्र सिंह का पचपदरा में शक्ति प्रदर्शन 

    मानवेन्द्र सिंह ने छोड़ी BJP, लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, कहा-कमल का फूल, मेरी भूल

    इन समितियों का होना है गठन
    प्रदेश चुनाव समिति, चुनाव अभियान समिति, समन्वय समिति, घोषणा पत्र समिति, मीडिया व प्रचार समिति, अनुशासन समिति और प्लानिंग कमेटी का गठन होना है.

    Tags: Assembly Election 2018, Congress, Jaipur news, Rajasthan Assembly Election 2018, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर