Unlock-1.0: राजस्थान में अगस्त में हो सकते हैं 129 नगरीय निकायों में चुनाव! तैयारी में जुटा निर्वाचन आयोग
Jaipur News in Hindi

Unlock-1.0: राजस्थान में अगस्त में हो सकते हैं 129 नगरीय निकायों में चुनाव! तैयारी में जुटा निर्वाचन आयोग
राज्य निर्वाचन आयोग के उप सचिव के मुताबिक 20 जुलाई को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन करना होगा.

लॉकडाउन (Lockdown) से जुड़ी पाबंदियां हटने और अनलॉक-1.0 (Unlock) की शुरुआत के साथ ही अब राज्य निर्वाचन आयोग ने नगरीय निकायों के चुनाव से जुड़ी तैयारियां तेज कर दी हैं.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
[ans]जयपुर. लॉकडाउन (Lockdown) से जुड़ी पाबंदियां हटने और अनलॉक-1.0 (Unlock) की शुरुआत के साथ ही अब राज्य निर्वाचन आयोग ने नगरीय निकायों के चुनाव (Election of urban bodies) से जुड़ी तैयारियां तेज कर दी हैं. प्रदेश के 129 शहरी निकायों के लिए अगस्त में चुनाव हो सकते हैं. राज्य निर्वाचन आयोग (State election commission) ने बाड़मेर और भरतपुर को छोड़कर बाकी 31 जिलों में 129 नगरीय निकायों के​ लिए निर्वाचक नामावलियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम घोषित कर दिया है. इन 31 जिलों में 4,450 वार्डों में चुनाव के लिए ये सूचियां तैयार होंगी.

राज्य निर्वाचन आयोग के उपसचिव अशोक जैन की ओर से जारी दिशा निर्देशों के मुताबिक 31 जिलों में 129 नगरीय निकायों का कार्यकाल अगस्त में पूरा हो रहा है. 27 जून को निर्वाचक नामावलियों के प्रारूप का प्रकाशन करना होगा. इसके बाद 3 जुलाई तक दावे, आक्षेप प्राप्त किए जा सकेंगे. 10 जुलाई तक प्राप्त दावों और आक्षेपों का निस्तारण करने के निर्देश दिए गए हैं. 17 जुलाई तक पूरक सूचियां तैयार करनी होंगी.

20 जुलाई को सूचियों का अंतिम प्रकाशन
राज्य निर्वाचन आयोग के उपसचिव के मुताबिक 20 जुलाई को सूचियों का अंतिम प्रकाशन करना होगा. कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार पुनरीक्षण कार्यक्रम के तहत मतदान केन्द्रों और वार्डों में सभाएं आयोजित कर मतदाता सूचियों का पठन पाठन नहीं करवाया जाएगा. सूचियों पर दावे और आपत्ति करने वालों को मतदान केन्द्र पर मास्क लगाकर आने पर ही प्रवेश दिया जाएगा.



प्रत्येक भाग में सिर्फ 700 वोटर्स के नाम ही शामिल करने के निर्देश


सामान्यतया मतदाता पुनरीक्षण सूचियां तैयार करवाते समय प्रत्येक भाग में 1400 मतदाताओं को शामिल किया जाता है, लेकिन कोविड-19 को देखते हुए प्रत्येक भाग में अब सिर्फ 700 मतदाताओं के नाम ही शामिल करने के निर्देश दिए गए हैं. इसका उद्देश्‍य कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए मतदान के समय सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना है. चुनाव के मद्देनजर आयोग की तैयारियां जोर पकड़ रही हैं.

राजस्थान में आज से 200 मार्गों पर रोडवेज का संचालन शुरू, ये रहा टाइम टेबल

बेवफाई के शक में पत्नी ने पति को कुल्हाड़ी से काट डाला, फिर पहुंची थाने
First published: June 3, 2020, 2:36 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading