• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Jaipur: MP में पकड़ा गया UP का मोस्ट वांटेड विकास दुबे, राजस्थान पुलिस भी थी अलर्ट मोड पर

Jaipur: MP में पकड़ा गया UP का मोस्ट वांटेड विकास दुबे, राजस्थान पुलिस भी थी अलर्ट मोड पर

विकास दुबे के मेवात में सक्रिय डॉक्टर कुलदीप गैंग समेत लादेन गैंग, चीकू गैंग और पपला गैंग से संबंध होने की बात सामने आई थी.

विकास दुबे के मेवात में सक्रिय डॉक्टर कुलदीप गैंग समेत लादेन गैंग, चीकू गैंग और पपला गैंग से संबंध होने की बात सामने आई थी.

आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी उत्तर प्रदेश सूबे का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी विकास दुबे आखिरकार मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर में गुरुवार को सुबह पकड़ा गया है.

  • Share this:
    जयपुर/दौसा. आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोपी उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) सूबे का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) आखिरकार मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के उज्जैन में महाकाल मंदिर में गुरुवार को सुबह पकड़ा गया है. दुबे की फरारी के बाद से उत्तर प्रदेश और इससे सटे कई राज्यों की पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी. बुधवार को उसके राजस्थान और हरियाणा के मेवात क्षेत्र में घुसने की आशंका के चलते राजस्थान पुलिस पूरी तरह से अलर्ट मोड पर आ गई थी. बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी गई थी. राजस्थान पुलिस के जवान बुलेट प्रूफ जैकेट पहनकर पूरी तरह से चौकसी बरते हुए थे.

    मेवात इलाके की कई गैंग के साथ संपर्कों की थी आशंका
    दरअसल विकास दुबे के मेवात में सक्रिय डॉक्टर कुलदीप गैंग समेत लादेन गैंग, चीकू गैंग और पपला गैंग से संबंध होने की बात सामने आई थी. इन संबंधों के चलते उसके इस क्षेत्र में आने की आशंका के कारण राजस्थान पुलिस अलर्ट मोड़ पर आ गई थी. आशंका जताई जा रही थी कि फरारी काटने के लिए विकास दुबे राजस्थान आ सकता है. उसके बाद हरियाणा बॉर्डर पर बुलेटफ्रूफ जैकेट और हथियारबंद जवान तैनात कर नाकाबंदी की गई. धौलपुर के बीहड़ इलाके में भी पुलिस ने सतर्कता बढ़ा दी थी.

    Rajasthan: प्रदेश में संशोधित मोटर व्हीकल एक्ट हुआ लागू, कई गुना बढ़ी जुर्माना राशि, यहां देखें पूरी सूची

    टोल नाकों पर लगवाये गए थे पोस्टर
    इसके अलावा दौसा जिले में भी पुलिस ने विशेष नाकाबंदी की. दौसा जिले के सभी नाकेबंदी पॉइंट्स पर बुलेटप्रूफ जैकेट में हथियारबंद पुलिस के जवान तैनात कर दिये गए थे. नेशनल और स्टेट हाईवे से गुजरने वाले प्रत्येक वाहन की गहनता से जांच की गई. वहीं राजस्थान एटीएस, एसओजी, इंटेलिजेंस और अन्य स्पेशल टीमें भी पूरी तरह से अलर्ट मोड पर थी. इसके साथ ही प्रदेश के सभी टोल नाकों पर विकास दुबे की पोस्टर लगाए गए थे ताकि वह अगर वह राजस्थान आये तो किसी भी हालत में बचकर नहीं निकल सके. उल्लेखनीय है कि विकास दुबे पर एक डीएसपी सहित आठ पुलिसकर्मियों की हत्या का आरोप है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज