Home /News /rajasthan /

Alwar में निर्भया कांडः अलवर में मूक-बघिर के साथ गैंगरेप से कांपा राजस्थान, हिल उठी सियासत

Alwar में निर्भया कांडः अलवर में मूक-बघिर के साथ गैंगरेप से कांपा राजस्थान, हिल उठी सियासत

पीड़िता को इलाज के लिये जयपुर लाये जाने के बाद गहलोत सरकार के तीन मंत्री, महिला आयोग की अध्यक्ष और एडीजी जेके अस्पताल पहुंचे.

पीड़िता को इलाज के लिये जयपुर लाये जाने के बाद गहलोत सरकार के तीन मंत्री, महिला आयोग की अध्यक्ष और एडीजी जेके अस्पताल पहुंचे.

Alwar Gang Rape News: अलवर में मूक-बघिर नाबालिग बालिका के साथ गैंगरेप की वारदात से राजस्थान कांप उठा है. गैंगरेप की बाद पीड़िता की हालत की सच्चाई सामने आने से हर कोई सकते में आ गया. दरिंदों ने पीड़िता से रेप के बाद उसके प्राइवेट पार्ट्स को नुकुली चीज से नुकसान पहुंचाया. जयपुर में आठ डॉक्टर्स की टीम ने पीड़िता का बड़ा ऑपरेशन किया है. अभी उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है. आरोपी अभी तक पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं. दिल्ली की निर्भया गैंगरेप जैसी वारदात की राजस्थान में पुनरावृत्ति होने से सियासत भी गरमाई हुई है.

अधिक पढ़ें ...

अलवर. राजस्थान के अलवर में मूक-बधिर नाबालिग से गैंगरेप (Gang Rape) के बाद बर्बरता (Vandalism) का मामला सामने आया है. पीड़िता का जयपुर में आठ डॉक्टर्स की टीम ने बड़ा ऑपरेशन किया है. पीड़िता की हालत अभी स्थिर बताई जा रही है. दिल्ली के निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya gang rape) जैसी वारदात की राजस्थान में पुनरावृत्ति होने से सियासत में हलचल मच गई है. पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने सरकार को कठघरे में खड़ा करते हुए उसे शून्य बताया है. वारदात के बाद पुलिस महकमे में भी हड़कंप है. आरोपियों की गिरफ्तारी के लिये एसआईटी गठित की गई है. लेकिन अभी तक आरोपी पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ पाए हैं.

गैंगरेप के बाद पुलिया से फेंकी गई नाबालिग को बुधवार को ही अलवर से जयपुर रेफर कर दिया गया था. जयपुर में जेके लोन अस्पताल में 8 डॉक्टर्स की टीम ने पीड़िता का बड़ा ऑपरेशन किया. ऑपरेशन के बाद पीड़िता की स्थिति स्टेबल है. उसे आईसीयू में रखा गया है. पीड़िता को खून चढ़ाया गया है. उसकी एक सर्जरी भी होनी है. पीड़िता का ब्लड प्रेशर और ऑक्सीजन नार्मल है. उसके होश में आने के बाद काउंसलिंग की जाएगी.

महिला आयोग अध्यक्ष, मंत्री, एडीजी पहुंचे अस्पताल

पीड़िता को जयपुर लाए जाने के बाद गहलोत सरकार के स्वास्थ्य मंत्री परसादीलाल मीणा, उद्योग मंत्री शकुंतला रावत, महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश, महिला आयोग की अध्यक्ष संगीत बेनीवाल और एडीजी स्मिता श्रीवास्तव अलग-अलग समय में जेके लोन अस्पताल पहुंचे. उन्होंने डॉक्टर्स से पीड़िता के स्वास्थ्य के बारे में पूरी जानकारी ली. स्वास्थ्य मंत्री परसादीलाल मीणा पीड़िता के परिजनों से मिले और अस्पताल प्रशासन को निशुल्क इलाज करने के निर्देश दिए . उन्होंने कहा कि पीड़िता के परिवार के रहने और खाने का इंतजाम भी राजस्थान सरकार ने करने का फैसला किया है.

अलवर से जयपुर रेफर की गई पीड़िता

14 साल की इस मूक बधिर नाबालिग के साथ अलवर में न केवल गैंगरेप किया गया बल्कि दरिंदों ने हैवानियत की हदें पार करते हुए उसके प्राइवेट पार्ट्स को नुकीली चीज से नुकसान पहुंचाया. इससे पीड़िता बुरी तरह जख्मी हो गई. पीड़िता मंगलवार रात को एक पुलिया के पास पड़ी मिली थी. पहले उसे अलवर के अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उसकी गंभीर हालत को देखते हुये प्राथमिक उपचार के बाद तत्काल जयपुर रेफर कर दिया गया था.

वसुंधरा राजे ने कहा- सरकार शून्य हो गई

दरिंदगी की इस वारदात के बाद राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे ने ट्वीट कर राज्य सरकार पर निशाना साधा. राजे ने अपने ट्वीट में कहा कि अलवर में मूक-बधिर नाबालिग बालिका से दुष्कर्म के बाद पुलिया पर फेंकने की घटना ने ना सिर्फ राजस्थान को शर्मसार किया है, बल्कि कांग्रेस सरकार की लचर कानून व्यवस्था की पोल भी खोल दी है. प्रदेश में बेटियां आए दिन दरिंदों की हवस का शिकार हो रही हैं, लेकिन सरकार शून्य हो गई है. नारी स्वाभिमान के पर्याय राजस्थान में बेटियों पर हो रहे अत्याचार को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले में देश में नंबर वन बन चुके राजस्थान को शोषण मुक्त बनाने के लिए कांग्रेस सरकार को सख्त कदम उठाने चाहिए.

Tags: Alwar News, Gang Rape, Jaipur news, Rajasthan latest news, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर