Vande Bharat Mission: 21 फ्लाइट्स से 2894 प्रवासी राजस्थानी पहुंचे अपने घर
Jaipur News in Hindi

Vande Bharat Mission: 21 फ्लाइट्स से 2894 प्रवासी राजस्थानी पहुंचे अपने घर
नागरिक उड्डयन मंत्रालय की ओर से मंजूरी मिलने के बाद हर दिन सैकड़ाें विमान उड़ान भरकर हजारों लोगों को उनके घर पहुंचा रहे हैं.

मिशन वंदे भारत (Vande Bharat Mission) के दूसरे फेज में सोमवार को 21वीं फ्लाइट जयपुर एयरपोर्ट (Jaipur Airport) पहुंची. एयर इंडिया की ये फ्लाइट किर्गिस्तान से दिल्ली होते जयपुर पहुंची. यह फ्लाइट 145 प्रवासी राजस्थानियों (Overseas Rajasthanis) को लेकर आई.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
जयपुर. मिशन वंदे भारत (Vande Bharat Mission) के दूसरे फेज में सोमवार को 21वीं फ्लाइट जयपुर एयरपोर्ट (Jaipur Airport) पहुंची. एयर इंडिया की ये फ्लाइट किर्गिस्तान से दिल्ली होते जयपुर पहुंची. यह फ्लाइट 145 प्रवासी राजस्थानियों (Overseas Rajasthanis) को लेकर आई. मिशन वंदे भारत के दूसरे फेज में राजस्थानियों के प्रदेश पहुंचने की 1 जून आखिरी तारीख थी. इसके साथ ही 22 मई से शुरू हुआ ये सिलसिला लगभग थम गया है. हालांकि एयरपोर्ट प्रशासन का कहना है कि दो या तीन दिन में तय तारीख के अलावा भी दुबई से एक फ्लाइट आ सकती है, लेकिन समय सारणी 1 जून तक की ही बनाई गई थी.

सभी को विभिन्न होटल्स में क्वॉरेंटाइन किया गया है
मिशन वंदे भारत के तहत अलग अलग देशों से अब तक 2894 प्रवासी राजस्थानियों की स्वदेश वापसी कराई जा चुकी है. इन 2894 प्रवासियों में से ज्यादातर फिलहाल जयपुर में ही है. इन्हें विभिन्न होटल्स में क्वॉरेंटाइन किया हुआ है. उम्मीद की जा रही है कि तीसरे फेज में राजस्थान के अन्य प्रवासियों का भी नंबर आ सकता है. क्योंकि अभी भी बहुत से राजस्थानी लॉकडाउन के कारण अलग अलग देशों में फंसे हुए हैं और वे राजस्थान वापस लौटना चाहते है. फिलहाल तीसरे चरण की तारीख तय नहीं की गई है.

इन देशों से राजस्थानियों को लाया गया है



जयपुर पहुंचने वाली इन फ्लाइट्स में लंदन, कजाकिस्तान, तजाकिस्तान, दुबई, कुवैत, किर्गिस्तान, मॉस्को, टोरंटो, जॉर्जिया और यूक्रेन से प्रवासी राजस्थानी अपने घर लौटे हैं. फिलहाल सभी यात्री होटल्स में अपनी आईसोलेशन की अवधि को पूरा कर रहे हैं. अवधि पूरा होने के बाद उनमें अगर कोरोना से जुड़े लक्षण नहीं पाए जाते है तो सभी को घर जाने की छूट दे दी जाएगी। कोरोना के लक्षण पाए जाने वाले यात्री को हॉस्पिटल रेफर किया जाएगा.



क्वॉरेंटाइन अवधि में इन्हें परिजनों से मिलने की भी इजाजत नहीं है
होटल में ठहरे इन प्रवासियों को इनके परिजनों से मिलने की भी इजाजत नहीं है. एयरपोर्ट पहुंचने पर सब यात्रियों का लगेज सेनेटाइज किया जाता है और उसके बाद इमिग्रेशन की औपचारिकता पूरी करने के बाद बसों के जरिए उन्हें होटल रवाना कर दिया जाता है. एयरपोर्ट से बस में होटल जाने से लेकर होटल के कमरे का किराया तक इन्हीं यात्रियों को अपनी जेब से भरना होता है. मिशन वंदे भारत के तहत जयपुर पहुंचने वाली सबसे ज्यादा फ्लाइट कजाकिस्तान से आई हैं. कजाकिस्तान में राज्य के हजारों स्टूडेंट्स मेडिकल की पढ़ाई पढ़ रहे हैं.

Weather Update: राजस्थान के कुछ हिस्सों में सकती है सामान्य से भी ज्यादा बारिश

SHO Suicide Case: CBI से कराई जाएगी जांच! सीएम गहलोत ने दी सैद्धांतिक सहमति
First published: June 2, 2020, 10:34 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading