Vande Bharat Mission: कुवैत से लौटे 162 राजस्थानी, होटल में क्वॉरेंटाइन होने से किया इनकार
Jaipur News in Hindi

Vande Bharat Mission: कुवैत से लौटे 162 राजस्थानी, होटल में क्वॉरेंटाइन होने से किया इनकार
होटल का मुद्दा जयपुर एयरपोर्ट पर एक बार दूसरे चरण के दौरान भी सामने आया था.

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान विदेशों में फंसे भारतीयों की स्वदेशी वापसी के 'मिशन वंदे भारत' (Vande Bharat Mission) का तीसरा चरण शुरू हो चुका है. तीसरे चरण के तहत पहली फ्लाइट मंगलवार को कुवैत (Kuwait) से जयपुर एयरपोर्ट पहुंची.

  • Share this:
जयपुर. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान विदेशों में फंसे भारतीयों की स्वदेशी वापसी के 'मिशन वंदे भारत' (Vande Bharat Mission) का तीसरा चरण शुरू हो चुका है. तीसरे चरण के तहत पहली फ्लाइट मंगलवार को कुवैत (Kuwait) से जयपुर एयरपोर्ट पहुंची. यहां पहुंचने पर प्रवासी राजस्थानियों को रिसीव करने आए राज्य सरकार के अधिकारियों ने उन्हें होटल में क्वॉरेंटाइन होने के लिए कहा, लेकिन उन्होंने इससे इनकार कर दिया. फ्लाइट से लौटे लोगों में से अधिकतर कामगार लोग शामिल थे. उन्होंने कहा कि वे होटल क्वॉरेंटाइन का खर्चा वहन नहीं कर सकते. सरकार अगर उन्हें मुफ्त में वहां रखती है वो तैयार हैं. बाद में उन्हें राज्य सरकार की ओर से बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में शिफ्ट किया गया.

अभी तक आधिकारिक तौर पर 7 फ्लाइट्स ही शिड्यूल में है
तीसरे चरण में हालांकि अभी तक आधिकारिक तौर पर 7 फ्लाइट्स ही शिड्यूल में है, लेकिन विदेश में फंसे हुए लोगों की तादाद को देखते हुए इनकी संख्या बढ़ाई जा सकती है. खाड़ी देशों में ज्यादातर राजस्थान के शेखावाटी के सीकर, चुरू और झुंझूनूं जिलों के लोग रहते हैं. जयपुर एयरपोर्ट इससे पहले भी मिशन वंदे भारत के दूसरे चरण में 27 फ्लाइट अटैंड कर चुका है. यहां विदेश से आने वाले लोगों के लिए अराइवल हॉल में अलग इंतज़ाम किए गए हैं जो घरेलू उड़ान के यात्रियों को इससे अलग रखते हैं.

यह रहती है व्यवस्था
विदेश से आने वाले यात्रियों के सामान को सबसे पहले सेनेटाइज किया जाता है. उनका बॉडी टैंपरेचर चेक किया जाता है और फिर इमीग्रेशन संबंधी औपचारिकता पूरी की जाती है. आमतौर पर विदेश से आना वाली फ्लाइट्स के यात्रियों को बसों के ज़रिए होटल में ले जाया जाता है, लेकिन कुवैत से लौटे प्रवासियों ने होटल में जाने से इंकार कर दिया. इसलिए उन्हें राज्य सरकार की तरफ से बनाए गए क्वॉरेंटाइन सेंटर में बसों के ज़रिए ले जाया गया.



होटल के बिल का मुद्दा पहले भी उठ चुका है
होटल का मुद्दा जयपुर एयरपोर्ट पर एक बार दूसरे चरण के दौरान भी सामने आया था. उस चरण में कजाकिस्तान से लौटे छात्रों ने होटल के बिल को कम करवाने को लेकर काफी देर हंगामा किया था. बहरहाल तीसरे चरण की ये पहली फ्लाइट है और अभी काफी फ्लाइट्स आना बाकी है. इन सभी यात्रियों का जयपुर में क्वॉरेंटाइन पीरियड पूरा होने का बाद ही इन्हें इनके घर जाने की अनुमति मिलेगी.

Rajasthan: पाली में पंच-पटेलों की दादागिरी, युवक को जूते में भरकर पानी पिलाया, पढ़ें इनसाइड स्टोरी

Rajasthan: प्रदेश में कभी भी घोषित हो सकते हैं 3878 ग्राम पंचायतों के चुनाव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज