अपना शहर चुनें

States

राजस्थान बीजेपी में गुटबाजी के बीच वसुंधरा राजे ने तोड़ी चुप्पी, जानिए कौन रहा निशाने पर

लंबे समय बाद वसुंधरा राजे जयपुर में बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में भाग लेने पहुंची.
लंबे समय बाद वसुंधरा राजे जयपुर में बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में भाग लेने पहुंची.

राजस्थान बीजेपी में जारी खींचतान के बीच पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने लंबे समय बाद चुप्पी तोड़ी. समर्थक कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए वसुंधरा ने अपनी ही पार्टी के नेताओं पर निशाना साधा. हालांकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने लंबे समय बाद चुप्पी तोड़ी और राजस्थान बीजेपी के नेताओं पर बिना नाम लिए निशाना साधा. दिल्ली से जयपुर आते वक्त बहरोड में अपने स्वागत में आए समर्थक कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि हमें सच्चाई की लड़ाई लड़ने कोई नहीं रोक सकता. जिन लोगों ने हमारे साथ अनर्थ करने की कोशिश की, जिन्होंने पार्टी के खिलाफ काम किया, ऐसे लोगों को हटाने का काम हम जरूर करेंगे. हालांकि वसुंधरा ने किसी का नाम नहीं लिया. समझा जा रहा है कि निशाने पर कांग्रेस नहीं, अपनी ही पार्टी का विरोधी गुट था.

राजस्थान में कलह खत्म करने के लिए राजे समेत वरिष्ठ नेताओ की एक कोर कमेटी भी गठित की लेकिन अब तक राजे उससे किनारा करती रही हैं. पहली दफा आज राजे जयपुर में बीजेपी कोर कमेटी की बैठक में भाग लेने पहुंची. हालांकि बैठक में काफी देर से पहुंची. एक दिन पहले ही राजे समर्थक विधायकों ने विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया पर विधाननसभा में सवाल न पूछने देने के आरोप की चिट्ठी लिखी थी. राजे समर्थक लगतार वसुंधरा राजे को सीएम प्रोजेक्ट करने की मांग कर रहे हैं लेकिन वसुंधरा अब तक चुप रहीं और पार्टी की बैठकों से दूरी बनाए रखी.

उन्होंने बीजेपी कोर कमेटी की बैठक को संबोधित करते हुए कहा, "विचलित होने की जरूरत नहीं. दिल बड़ा रख कर के काम करना है और जो हमारा परिवार है उसे एकजुट होकर आगे बढ़ाना है. जिन लोगों ने पार्टी के खिलाफ काम किया है, उनके उखाड़ फेंकने का अब समय आ गया है."



उधर, वसुंधरा गुट के 20 विधायकों की चिट्ठी पर राजस्थान बीजेपी प्रभारी अरुण सिंह ने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं को ऐसा कार्य नहीं करना चाहिए जिससे पार्टी को नुकसान हो. सिंह ने कहा मुझे तो चिट्ठी नहीं मिली मगर ऐसी बात पार्टी फोरम पर करना चहिये. हम सभी को गहलोत सरकार को हटाने के लिए कार्य करना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज