लाइव टीवी

जयपुर, जोधपुर और कोटा में नगर निकाय चुनाव-2020 को लेकर 15 फरवरी होगा ये काम
Jaipur News in Hindi

Prem Meena | News18 Rajasthan
Updated: February 14, 2020, 7:31 AM IST
जयपुर, जोधपुर और कोटा में नगर निकाय चुनाव-2020 को लेकर 15 फरवरी होगा ये काम
मतदाता सूची के संबंध में राज्य निर्वाचन आयोग ने निर्देश दिए हैं.

राजस्थान की राजधानी जयपुर (Jaipur) समेत जोधपुर (Jodhpur) ओर कोटा (kota) जिलों की 6 नवगठित नगर निगमों में आगामी चुनाव (local body election 2020) के लिए मतदाता सूची के संबंध में राज्य निर्वाचन आयोग ने निर्देश दिए हैं.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान की राजधानी जयपुर समेत जोधपुर ओर कोटा जिलों की 6 नवगठित नगर निगमों में आगामी चुनाव (local body election 2020) के संबंध में राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त पीएस मेहरा ने संबंधित जिला कलेक्टर्स व अधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए चर्चा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए. शासन सचिवालय के एनआईसी कक्ष में हुई वीडियो कॉन्फ्रेंस में आयुक्त ने कहा कि चूंकि सभी जिलों में परिसीमन के बाद वार्डों में बढ़ोतरी हुई है, ऐसे में मतदान केंद्र भी नए बनेंगे. मतदाताओं को किसी भी तरह की परेशानी न हो इसके लिए उन्होंने जिला कलेक्टर्स को सभी मतदान केंद्रों का भौतिक सत्यापन करने के निर्देश दिए. 15 फरवरी को मतदाता सूची (voter list) का प्रारुप प्रकाशन हो जाएगा. इसके बाद से निगमों के निवासी जिनका नाम मतदाता सूची में नहीं है और पात्र हैं वे मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वा सकेंगे.

6 नवगठित नगर निगमों में मार्च-अप्रैल में होंगे चुनाव
प्रदेश की छह नवगठित नगर निगम जयपुर हैरिटेज, जयपुर ग्रेटर, कोटा उत्तर, कोटा दक्षिण, जोधपुर उत्तर और जोधपुर दक्षिण में आगामी मार्च-अप्रेल माह में चुनाव करवाए जाएंगे. चुनाव आयुक्त मेहरा ने कहा कि प्रदेश के 3 जिलों की 6 नवगठित नगर निगमों में चुनाव होने हैं.

मतदाता सूची में नाम के लिए आवेदन

राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त पीएस मेहरा ने कहा कि सभी जिला कलेक्टर इस बात को सुनिश्चित कर लें कि प्रगणक (बीएलओ) विशेष अभियान की तिथि यानी 16 व 23 फरवरी को सुबह 10 बजे से शाम 5 बजे तक और अन्य दिवसों में दोपहर 2 बजे से 5 बजे तक मतदान केंद्रों पर बैठकर आवेदन लें. इसमें किसी भी तरह की कोई कोताही नहीं बरती जाए.

मतदाता सूची पूरी सजगता से हो तैयार
सचिव श्यामसिंह राजपुरोहित ने कहा कि यदि मतदाता सूची पूरी सजगता के साथ तैयार की जाए तो चुनाव प्रक्रिया बेहद सहज हो जाती है. उप सचिव अशोक जैन ने कहा कि कई बार मतदाता सूची में संशोधन के दौरान कई बार न चाहते हुए भी या फिर तकनीकी कारणों में समूह में मतदाताओं के नाम छूट जाते हैं. अंतिम समय में इन्हें जोड़ना भी संभव नहीं हो पाता. ऐसे में सभी अधिकारी पूर्ण सजगता के साथ मतदाता सूचियों का कार्य करें.ये भी पढ़ें- 

लड़की से छेड़खानी पर लोगों ने कांस्टेबल का मुंह किया काला

Jaipur Today: राजस्थान यूनिवर्सिटी में आज से 'घूमर', JKK में 'आरोपी हाजिर हो'

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 8:17 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर