अपना शहर चुनें

States

राजस्थान : जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्यों के अंतिम चरण का मतदान संपन्न, मतगणना 8 को

अधिकारी इस तरह हर गतिविधि पर नजर टिकाए हुए थे.
अधिकारी इस तरह हर गतिविधि पर नजर टिकाए हुए थे.

चौथे और अंतिम चरण में करीब 64 प्रतिशत मतदाताओं ने किया मतदान. काउंटिंग 8 दिसंबर को होगी. चौथे चरण में सर्वाधिक मतदान आदिवासी बहुल बांसवाड़ा जिले की बांसवाड़ा पंचायत समिति में हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2020, 10:37 PM IST
  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के 21 जिलों में जिला परिषद और पंचायत समिति सदस्यों के लिए चौथे चरण का चुनाव स्वतंत्र-निष्पक्ष और शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हो गया. चौथे चरण में कुल 63.83 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. सर्वाधिक मतदान बांसवाड़ा पंचायत समिति में हुआ. यहां 80.90 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले. सभी चरणों की मतगणना 8 दिसंबर की सुबह 9 बजे से सभी जिला मुख्यालयों पर होगी.

राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त पीएस मेहरा ने बताया कि प्रथम चरण में 61.80, द्वितीय चरण में 63.18, तीसरे चरण में 63.80 और चौथे चरण में 63.83 फीसद मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. प्रथम चरण के चुनाव के लिए 23 नवंबर को मतदान हुआ, जबकि दूसरे चरण के लिए 27 नवंबर को वोटिंग हुई. तृतीय चरण के लिए 1 दिसंबर को मतदान हुआ था और चौथे व अंतिम चरण के लिए 5 दिसंबर को मतदान हुआ.

चौथे चरण में भी सबका सहयोग रहा



चौथे चरण में 52 लाख 40 हजार 880 मतदाताओं में से 33 लाख 45 हजार 241 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. मेहरा ने कोरोना के सभी प्रोटोकॉल का पालन करते हुए मतदान करने के लिए मतदाताओं का आभार जताया है. उन्होंने कहा कि मतदाताओं के सहयोग और संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारियों, पुलिस अधिकारियों और निर्वाचन कार्य से जुड़े समस्त कार्मिकों के समर्पण की भावना से चौथे चरण के चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न हो सका है. उन्होंने सकारात्मक सहयोग के लिए मीडिया के प्रति भी हार्दिक आभार व्यक्त किया.
ये रहा वोटिंग ट्रेंड

आपको बता दें कि सभी जगह सोशल डिस्टेंसिंग और कोरोना प्रोटोकॉल के साथ मतदान प्रारंभ हुआ. सुबह 10 बजे तक 11.97 प्रतिशत मतदान हुआ. दोपहर 12 बजे मतदान का प्रतिशत 28 तक पहुंच गया. दोपहर 3 बजे तक प्रतिशत 50.77 तक जा पहुंचा और शाम 5 बजे 62.15 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले. मतदान समाप्ति के बाद कुल 63.83 फीसद मतदान दर्ज हुआ. राज्य निर्वाचन आयोग ने लाइलाज महामारी कोरोना के बीच शांतिपूर्ण, निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से चुनाव संपन्न करवा कर बड़ी चुनौती पर जीत हासिल की है. आयोग के दिशा निर्देशों का पालन करते हुए ग्रामीण मतदाताओं ने गांव की सरकार चुनने के लिए बढ़ चढ़कर भाग लेकर लोकतंत्र को मजबूती प्रदान की है. अब सबकी निगाहें 8 दिसंबर को होने वाली मतगणना पर केंद्रित हो गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज