होम /न्यूज /राजस्थान /जलदाय विभाग: काम में लेटलतीफी, 5 फर्मों पर लगाई 6.5 करोड़ रुपये की पैनल्टी, 7 को दी चेतावनी

जलदाय विभाग: काम में लेटलतीफी, 5 फर्मों पर लगाई 6.5 करोड़ रुपये की पैनल्टी, 7 को दी चेतावनी

Jaipur News: कॉन्ट्रेक्टर फर्मों को बैठक में अंतिम चेतावनी (फोटो shutterstock)

Jaipur News: कॉन्ट्रेक्टर फर्मों को बैठक में अंतिम चेतावनी (फोटो shutterstock)

Jaipur News: जल भवन में विभिन्न पेयजल परियोजनाओं एवं जल जीवन मिशन की प्रगति की समीक्षा में काम की सुस्त रफ्तार और लापरव ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

जलदाय विभाग ने धीमी गति से काम कर रही पांच फर्मों पर लगाई करोड़ों की पैनल्टी
सात फर्मों को काम में देरी करने पर दिया 31 दिसंबर तक का समय, इसके बाद टेंडर रद्द

जयपुर. जलदाय विभाग (Water Supply Department) में कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं और योजनाओं (Projects and Planning) के काम अटके पड़े हैं. अब तक केवल चेतावनी से काम चला रहे विभाग के आला अधिकारियों ने अब सख्त रवैया अख्तियार कर लिया है. इसके तहत देरी से काम करने वाली पांच कॉन्ट्रेक्टर फर्मों (Contractor Firms) पर करीब साढ़े छह करोड़ पैनल्टी लगा दी है. इसके साथ ही काम में लापरवाही करने वाली 7 फर्मों को ब्लैक लिस्ट करने और टेंडर रद्द करने की चेतावनी देकर 31 दिसंबर तक का वक्त दिया गया है.

जलदाय विभाग ने पेयजल से जुड़े काम में लेटलतीफी करने वाली इन फर्मों को कहा गया है कि या तो काम समय पर पूरा करें, नहीं तो 31 दिसंबर के बाद इनके टेंडर रद्द कर विभाग रिटेंडर की प्रक्रिया शुरू कर देगा. अतिरिक्त मुख्य सचिव जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी डॉ. सुबोध अग्रवाल ने परियोजनाओं में लगातार देरी कर रही कॉन्ट्रेक्टर फर्मों के लिए समय सीमा तय करते हुए संबंधित मुख्य अभियंताओं और अतिरिक्त मुख्य अभियंताओं को कार्य में लापरवाही बरत रही फर्मों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

राजस्थान में रफ्तार नहीं पकड़ पा रहा है स्किन डोनेशन, 6 महीने में महज एक डोनर आया सामने

कम प्रगति पर पैनल्टी लगाने के दिए निर्देश
उन्होंने कहा कि 31 दिसम्बर के बाद भी कार्य की प्रगति सकारात्मक नहीं दिखाई दे तो इन फर्मों को ब्लैक लिस्ट करने के साथ ही प्रोजेक्ट वापस लेकर रि-टेण्डर करने की प्रक्रिया शुरू की जाए. अधिकारियों ने कई वृहद परियोजनाओं की कम प्रगति पर संबंधित फर्मों पर पैनल्टी लगाने के निर्देश दिए हैं. साथ ही फील्ड अभियंताओं को परियोजनाओं में हो रही देरी के बारे में रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा है.

कॉन्ट्रेक्टर फर्मों को बैठक में अंतिम चेतावनी
जलदाय विभाग की ओर से योजनाओं की समीक्षा पर की गई बैठक में कॉन्ट्रेक्टर फर्मों के प्रतिनिधि भी शामिल हुए, जिन्हें अंतिम चेतावनी दी गई. सबसे कम प्रगति वाली परियोजनाओं पर कार्यरत फर्मों को बैठक में निर्देश दिए कि 31 दिसम्बर तक कार्य में गति लाने का आखिरी मौका दिया जा रहा है और फर्में अपनी परफोर्मेंस में अपेक्षित सुधार लाएं नहीं तो उनसे प्रोजेक्ट वापस लेने की कार्यवाही प्रारंभ कर दी जाएगी. बैठक में संबंधित प्रोजेक्ट से जुड़े अभियंताओं ने बताया कि अत्यधिक देरी करने वाली फर्मों को नोटिस देकर उन पर पैनल्टी लगाने की कार्रवाई की गई है.

Tags: Jaipur news, Water supply

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें