• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Rajasthan Monsoon Update: राजस्थान के बारां में रातभर से चल रहा है बरसात का दौर, चारों तरफ पानी ही पानी

Rajasthan Monsoon Update: राजस्थान के बारां में रातभर से चल रहा है बरसात का दौर, चारों तरफ पानी ही पानी

बारां में रातभर से चल रहे बारिश के कारण शहर के प्रताप चौक पर भरा पानी.

बारां में रातभर से चल रहे बारिश के कारण शहर के प्रताप चौक पर भरा पानी.

Torrential Rain in Baran: राजस्थान के कोटा संभाग के बारां जिले में फिर से हुई मूसलाधार बारिश ने लोगों को डरा दिया है. बारां में रविवार रातभर जोरदार बारिश (Heavy rain) का दौर चला. दूसरी तरफ शेष कोटा संभाग और जयपुर में बारिश का दौर थम गया है.

  • Share this:

    जयपुर. राजस्थान में चल रहा भारी बारिश (Heavy rain) का दौर अभी तक पूरी तरह से थमा नहीं है. कोटा संभाग के बारां (Baran) जिले में दो दिन के ब्रेक के बाद रविवार रात को फिर से मूसलाधार बारिश (Torrential rain) हुई. इससे शहर के नीचले इलाके जलमग्न हो गए. शहर में जहां रातभर जमकर पानी गिरा वहीं इसके आसपास हल्की बारिश हुई. हल्की बारिश का दौर सोमवार को सुबह 10 बजे तक जारी है. बूंदी, झालावाड़ और कोटा में बारिश का दौर अब थम गया है, लेकिन यहां नदी नालों में शवों का मिलने का सिलसिला जारी है. बूंदी में सोमवार को भी चंबल नदी में माखिदा गांव के पास एक महिला का शव तैरता मिला.

    चंबल में शव मिलने की सूचना पर देईखेड़ा थाना पुलिस ने वहां पहुंचकर उसे बाहर निकालवाया. शव की अभी तक शिनाख्त नहीं हो पाई है. उसे स्थानीय अस्पताल की मोर्चरी में रखवाया गया है. बूंदी जिले में अब तक 703 एमएम बारिश हो चुकी है. जिले में सबसे अधिक 1013 एमएम बारिश केशवरायपाटन क्षेत्र में हुई है, जबकि सबसे कम 480 एमएम बारिश हिण्डोली क्षेत्र में हुई है. जिले में हाल ही में लगातार हुई भारी बारिश से 80 फीसदी बांध और तालाब लबालब हो गए हैं. राजधानी जयपुर रविवार से बारिश पर ब्रेक लगा हुआ है. जयपुर में रविवार को बारिश नहीं हुई. दिनभर धूप खिली रही. सोमवार को भी मौसम साफ है, लेकिन शहर के कई इलाकों में सड़कों पर पानी जमा है.

    बाढ़ की चपेट में है राजस्थान के कई हिस्से
    उल्लेखनीय है कि राजस्थान के कोटा संभाग समेत पूर्वी राजस्थान के भरतपुर और धौलपुर तथा इससे सटे अलवर जिले में भारी बारिश का दौर चला था. कोटा संभाग में तो भारी बारिश के कारण बाढ़ आ गई थी. इस बाढ़ में हजारों कच्चे-पक्के मकान धराशाही हो गये. खेत पूरी तरह से पानी में डूब गये. गांव के गांव बाढ़ की चपेट में आने से तहस-नहस हो गये. हजारों बीघा में लगी करोड़ों रुपये की फसलें पूरी तरह से नष्ट हो गई. कई लोग बाढ़ की चपेट में आकर जान गंवा बैठे. राज्य सरकार ने बारिश से हुए खराबे के नुकसान का सर्वे करने के आदेश जारी किए हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज