राजस्थान में पश्चिमी विक्षोभ का असर: मौसम ने बदली करवट, शुरू हुई तेज हवाएं, बारिश और ओलावृष्टि के आसार

मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ का असर आज तक ही रहने की संभावना है. (सांकेतिक तस्वीर)

मौसम विभाग के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ का असर आज तक ही रहने की संभावना है. (सांकेतिक तस्वीर)

Rajasthan weather updates: राजस्थान में शुक्रवार को पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय (Western disturbance active) होने से मौसम में बदलाव देखने को मिला है. मौसम विभाग के अनुसार इसके चलते आज प्रदेश के 5 संभागों में बारिश और ओलवृष्टि की संभावना है.

  • Share this:
जयपुर. पश्चिमी विक्षोभ (Western Disturbance) के असर के चलते राजस्‍थान में शुक्रवार को मौसम का मिजाज अचानक से बदल (Weather change) गया है. कई इलाकों में तेज हवाओं का दौर देखने को मिल रहा है. मौसम में आए बदलावों के कारण लोगों को गर्मी से राहत मिली है. मौसम विभाग ने मौसम के मिजाज में आए बदलाव को देखते हुए 5 संभागों में मेघगर्जन और ओलावृष्टी (Rain and Hailstorm) के आसार जताए हैं.

मौसम विभाग के मुताबिक, प्रदेश में 12 मार्च को पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो गया है. यही कारण है कि गुरुवार शाम से ही प्रदेश के मौसम में बदलाव देखने को मिल रहे हैं. कई इलाकों में तेज हवाओं के कारण पारे में गिरावट दर्ज की गयी है. लोगों को गर्मी से राहत मिली है. वहीं ठंडक का अहसास भी हो रहा है.

पांच संभागों में रहेगा असर

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ के कारण अगले 36 घंटों तक कोटा, भरतपुर, जयपुर, अजमेर और बीकानेर संभाग में कहीं-कहीं मेघगर्जन के साथ बिजली चमकने, तेज हवाएं चलने और ओलावृष्टी के आसार हैं. इन जिलों में 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की स्पीड से तेज हवाएं चल सकती हैं. मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ का असर आज ज्यादा देखने को मिलेगा.
मौसम के शुष्क होने के आसार

मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ का असर शुक्रवार तक ही रहने की संभावना है. शनिवार से पश्चिमी विक्षोभ बेअसर हो जाएगा. इसके कारण से शनिवार से फिर मौसम में बदलाव होगा और वह शुष्क हो जाएगा. ऐसे में एक बार फिर से तापमान में बढ़ोतरी हो सकती है. उल्लेखनीय है कि प्रदेश में इस बार गर्मियां जल्दी ही शुरू हो गई हैं. फरवरी के अंत से ही गर्मी ने रिकॉर्ड तोड़ने शुरू कर दिये. मार्च के प्रथम सप्ताह में ही घरों और कार्यालयों में पंखे शुरू हो गये. दिन में धूप ने परेशान कर रखा है तो रात को हल्की सर्दी रहने के कारण जुखाम के मरीज बढ़ने लगे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज