अपना शहर चुनें

States

आपके लिये इसका मतलब: चोरों ने गार्ड के साथ अलाव तापकर की रैकी, हर किसी पर ना करें भरोसा

भिवाड़ी की घटना अनजान व्यक्ति पर विश्वास करने के कारण हुई.
भिवाड़ी की घटना अनजान व्यक्ति पर विश्वास करने के कारण हुई.

अलवर के भिवाड़ी (Bhiwadi Town) में हुई चोरी की वारदात से भले ही आपका सीधा कोई नुकसान नहीं हुआ हो, लेकिन यह घटना आपके लिये एक अलार्म (Alarm) है. ऐसा क्यों है इसको समझने के लिये जरुरी है कि इसकी गहराई में जाया जाये.

  • Share this:
जयपुर. प्रदेश के अलवर जिले के भिवाड़ी कस्बे (Bhiwadi Town) में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है. भिवाड़ी के फूलबाग थाना इलाके में शातिर चोरों ने रैकी करने का नया तरीका (New Way) निकाला. कड़कड़ाती सर्द रात में दुकानों की सुरक्षा के लिये चौकीदारी (Guard) कर रहे एक गार्ड के पास अलाव तापने के बहाने बैठकर उन्होंने उससे दुकानों और उसके बारे में पूरी जानकारी ले ली. बाद में मौका देखते ही गार्ड से मिली जानकारी को आधार बनाकर एक मोबाइल शॉप से करीब 40 लाख रुपये के कीमती 72 मोबाइल चुरा लिये. चोरी की इस वारदात से भले ही आपका कुछ भी नहीं गया है, लेकिन यह सीधे तौर पर आपसे जुड़ी है.

देखने में यह घटना भले ही सामान्य चोरी लगे, लेकिन इसका पैटर्न बदला हुआ और बेहद शातिराना है. क्योंकि गार्ड ने सपने में भी नहीं सोचा होगा कि चोर इतने बेखौफ होकर उसके पास बैठ सकते हैं. बस यहीं वह मात खा गया और एक दुकान मालिक का सबकुछ लुट गया. इस वारदात के घटने के पीछे गार्ड को ही जिम्मेदार माना जायेगा.

अलवर: चोरों ने पहले सर्दी में गार्ड के पास अलाव तापकर की रेकी, फिर चुरा ले गये 40 लाख के मोबाइल

ऐसा इसलिये हुआ


भिवाड़ी की घटना अनजान व्यक्ति पर विश्वास करने के कारण हुई. गार्ड के मन में कोई खोट नहीं था, लेकिन वह सामने वाले की नीयत को नहीं भांप सका. यही उसकी कमजोरी रही या दूसरे शब्दों में उसे बेवकूफी भी कहा जा सकता है. वर्तमान समय में हर किसी पर विश्वास करना बेवकूफी ही है. कोई राह चलता व्यक्ति अगर आपके पास आता है और थोड़ी से चिकनी चुपड़ी बातें करता है और आप उसके सामने अपना और अपने काम का पूरा भेद खोलकर रख देते हो तो इससे बड़ी कोई बेवकूफी हो नहीं सकती. क्योंकि सामने वाला किस मंशा से आपसे बात कर रहा है आप इसका अंदाजा नहीं लगा सकते.

इसलिये सतर्क रहें
भिवाड़ी में हुई वारदात एक अलार्म है. कोई भी अनजान व्यक्ति अगर आपसे बात करता है तो सतर्क रहें. थोड़ा विचार करें कि वह आपसे इस तरह आपके घर, दुकान, बिल्डिंग, मोहल्ले और कॉलोनी तथा उसकी सुरक्षा की जानकारी क्यों ले रहा है. इसके पीछे उसका मंतव्य क्या है. इसको समझना पड़ेगा. हर किसी को अपने बारे में या अपनी दुकान, मकान, बिल्डिंग और कॉलोनी के बारे में किसी तरह की कोई जानकारी नहीं दे. हो सकता भिवाड़ी की शातिर गैंग आपके ही आसपास हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज