राजस्थान में एम्बुलेंस की हड़ताल जारी, कंपनी और कर्मचारियों के बीच नहीं बनी बात

प्रदेशभर में घायलों और मरीजों की जान सांसत में है. सोमवार रात 12 बजे से एम्बुलेंसों के पहिए थमे हुए हैं. दो महीनों का बकाया वेतन नहीं मिलने से आक्रोशित एम्बुलेंस कर्मचारी राजस्थान एम्बुलेंस कर्मचारी यूनियन के आह्वान पर हड़ताल पर उतर आए हैं.

Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: July 30, 2019, 9:28 PM IST
राजस्थान में एम्बुलेंस की हड़ताल जारी, कंपनी और कर्मचारियों के बीच नहीं बनी बात
जयपुर में नारेबाजी करते एम्बुलेंस कर्मचारी। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Sachin Sharma | News18 Rajasthan
Updated: July 30, 2019, 9:28 PM IST
प्रदेशभर में घायलों और मरीजों की जान सांसत में है. सोमवार रात 12 बजे से एम्बुलेंसों के पहिए थमे हुए हैं. दो महीनों का बकाया वेतन नहीं मिलने से आक्रोशित एम्बुलेंस कर्मचारी राजस्थान एम्बुलेंस कर्मचारी यूनियन के आह्वान पर हड़ताल पर उतर आए हैं. एम्बुलेंस के अभाव में पीड़ितों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. हड़ताल को लेकर एम्बुलेंस सेवा प्रदाता कंपनी और कर्मचारियों के बीच हुई वार्ता भी बेनतीजा रही है.

सोमवार रात को थमे एम्बुलेंसों के पहिए
प्रदेश में सोमवार रात से ही मरीजों और घायलों की परेशानी बढ़ी हुई है. सोमवार रात 12 बजे से 108, 104 और बेस एम्बुलेंस सेवा के कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं. एंबुलेंस कर्मचारियों का कहना है कि उन्हें पिछले 2 माह से वेतन नहीं मिला है. इसीलिए उन्हें हड़ताल का रास्ता अपनाना पड़ा है. वेतन के अभाव में घर परिवार चलाना मुश्किल हो गया है.

दो माह के भुगतान के लिए अड़े हैं कर्मचारी

एम्बुलेंस कर्मचारियों के आंदोलन को देखते हुए एम्बुलेंस सेवा प्रदाता कंपनी जीवीकेईएमआरआई ने कर्मचारियों को 1 माह का भुगतान उनके बैंक खातों में कर दिया है. लेकिन एम्बुलेंस कर्मचारी इस बात पर अड़े हैं कि उन्हें बकाया दोनों महीने का वेतन एक साथ बैंक खाते में चाहिए. क्योंकि पिछले 5 माह से वे अपने वेतन के लिए लगातार संघर्ष ही करते रहे हैं. एम्बुलेंस कर्मचारियों की कंपनी के अधिकारियों के साथ इस मसले को लेकर वार्ता भी हुई, लेकिन वह बेनतीजा रही. एंबुलेंस सेवा बंद होने से मरीजों को निजी वाहन लेकर अस्पताल पहुंचना पड़ रहा है.

प्रदेश में थमे एम्बुलेंस के पहिए - Ambulance workers on strike
प्रदेश में थमे एम्बुलेंस के पहिए। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।


कंपनी और सरकार को अल्टीमेटम दिया था
Loading...

यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सिंह शेखावत ने बताया कि एम्बुलेंस कर्मियों ने एक पत्र जारी करके कंपनी और सरकार को अल्टीमेटम दिया था. उन्हें चेताया गया था कि सोमवार तक कर्मचारियों का वेतन नहीं आया तो रात 12 बजे से पूरे प्रदेश की एम्बुलेंस सेवा ठप कर दी जाएगी. सोमवार तक किसी भी कर्मचारी का वेतन नहीं आया. इसलिए अल्टीमेटम के अनुसार रात 12 बजे से हड़ताल कर दी गई.

मॉब लिंचिंग करने वालों को अब मिलेगी कड़ी सजा, बिल पेश

क्यों नहीं सम्पूर्ण पुलिस व्यवस्था को दोषी घोषित किया जाए ?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 30, 2019, 5:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...