अपना शहर चुनें

States

Rajasthan: कौन संभालेगा प्रदेश के जंगलों और वन्य जीवों को, वन विभाग में खाली पड़े हैं हजारों पद, देखें सूची

वन विभाग में अलग अलग स्तर पर कर्मचारी और अधिकारियों के 10486 पदों में से करीब चार हजार पद इस साल की शुरूआत में ही खाली हो चुके थे.
वन विभाग में अलग अलग स्तर पर कर्मचारी और अधिकारियों के 10486 पदों में से करीब चार हजार पद इस साल की शुरूआत में ही खाली हो चुके थे.

राजस्थान का वन महकमा (Forest department) बुरे हालात से गुजर रहा है. महकमे में आधे से ज्यादा पद खाली पड़े हैं. ऐसे में जंगलों और वन्य जीवों की सार संभाल (Care) कौन करेगा इसकी चिंता लगातार बढ़ती जा रही है.

  • Share this:
जयपुर. एक ओर पर्यावरण संबंधी चुनौतियां लगातार बढ़ती जा रही हैं, दूसरी ओर इन समस्याओं के समाधान के लिए बनाया गया वन महकमा (Forest department) धीरे-धीरे खाली होता जा रहा है. लंबे अर्से से वन विभाग में खाली पदों (Posts vacant) पर भर्तियों की मांग की जा रही है, लेकिन विभाग में जरूरत के मुताबिक आज तक ना तो भर्ती हुई ना ही इसका कोई रास्ता निकाला गया है. वहीं वन विभाग में इस साल दिसंबर और सबसे ज्यादा कर्मचारी सेवानिवृत्त (Retired) हो रहे हैं. उसके बाद वन विभाग में आधे से ज्यादा पद रिक्त हो जायेंगे. इससे विभाग की जंगलों और वन्य जीवों की देखभाल करने की मुश्किलें और बढ़ने वाली हैं.

वन विभाग में 2019-20 की स्थिति के अनुसार उप वन संरक्षक (हायर सुपर टाइम स्केल) के 5 पद हैं लेकिन इनमें से 4 पर खाली हैं. उप वन संरक्षक (सुपर टाइम स्केल) के 26 पद हैं. इनमें से 14 खाली हैं. उप वन संरक्षक (सलेक्शन स्केल) के 52 पद हैं, लेकिन इनमें से 32 खाली हैं. उप वन संरक्षक (सीनियर स्केल) के 78 पदों में से 47 खाली हैं.

Rajasthan weather update: पश्चिमी विक्षोभ की सक्रियता ने दिखाया असर, कई इलाकों में हुई बारिश

अन्य पदों के भी के हाल बुरे हैं


इसी तरह से सहायक वन संरक्षक (जूनियर स्केल) के 268 पद हैं. इनमें से 178 खाली पड़े हैं. जू सुपरवाइजर के 4 पद हैं. ये चारों ही पद खाली हैं. रेंजर ग्रेड वन के 258 पद हैं इनमें से 144 खाली हैं. रेंजर ग्रेड टू के 451 पदों में से 200 खाली हैं. यही हाल अन्य पदों का है. वनपाल के 979 पदों में से 182 रिक्त पड़े हैं. सहायक वनपाल के 1498 पदों में से 323 और वनरक्षक के 4467 पदों में से 1934 पद खाली हैं. लेखा संवंर्ग और तकनीकी संवंर्ग में 710 पद हैं. इनमें से 270 पद रिक्त हैं. मंत्रालयिक संवंर्ग में 990 पदों में से 338 पद खाली पड़े हैं.

4000 पद इस साल की शुरुआत में हुए खाली
वन विभाग में अलग अलग स्तर पर कर्मचारी और अधिकारियों के 10486 पदों में करीब चार हजार पद इस साल की शुरूआत में ही खाली हो चुके थे. भर्ती नहीं होने और लगातार रिटायरमेंट होने की वजह से वन विभाग में वनरक्षक से लेकर, फारेस्टर और रेंजर स्तर पर आधे से ज्यादा पद खाली हो चुके हैं. इतना ही नहीं इसके बाद सहायक वन संरक्षक से लेकर उप वन संरक्षक और वन संरक्षक से मुख्य वन संरक्षक तक अहम पदों ही यही स्थति है. वन विभाग में पिछले काफी समय से इस बात लेकर आवाज़ उठाई जा रही है कि विभाग में खाली पदों को भरने की जरूरत है. लेकिन अब इन रिक्त पदों की संख्या बढ़ती जा रही है और भर्तियां टलती जा रही हैं.

कोरोना के चलते भर्तियां टली
हाल ही में विभाग में एसीएफ और रेंजर की भर्ती निकाली गई थी लेकिन उसे कोरोना के चलते टाल दिया गया. वन विभाग की नई मुखिया श्रुति शर्मा मामले को काफी गंभीरता से ले रही हैं. उनका कहना है कि हमारी प्राथमिकता है कि विभाग में सभी स्तर पर जल्द से जल्द भर्ती की जाएं. मामले को हाल में मुख्यमंत्री और मुख्य सचिव के साथ हुई समीक्षा बैठक में भी रखा गया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज