लाइव टीवी

प्री-मैच्योर डिलीवरी में महिला ने दिया 5 बच्चों को जन्म, 3 लड़के और 2 लड़कियां

News18 Rajasthan
Updated: October 13, 2019, 6:21 PM IST
प्री-मैच्योर डिलीवरी में महिला ने दिया 5 बच्चों को जन्म, 3 लड़के और 2 लड़कियां
प्री-मैच्योर डिलीवरी और दुर्लभ केस होने के कारण इन बच्चों और प्रसूता को चिकित्सकों की विशेष निगरानी में रखा जा रहा है.

प्री-मैच्योर डिलीवरी (Pre-mature delivery) और दुर्लभ केस होने के कारण इन बच्चों और प्रसूता को चिकित्सकों (Doctors) की विशेष निगरानी में रखा जा रहा है. यह महिला की तीसरी डिलीवरी बताई जा रही है.

  • Share this:
जयपुर. राजधानी जयपुर (Jaipur) के जनाना अस्पताल में एक महिला ने पांच बच्चों (Five children) को जन्म दिया है. इनमें 3 लड़के (Boys) और 2 लड़कियां (Girls) शामिल हैं. 5 में से एक बच्चा मृत (Dead) पैदा हुआ. अभी एक नवजात वेंटीलेटर (Ventilator) पर है, जबकि तीन अन्य स्वस्थ (Healthy) बताए जा रहे हैं. प्रसूता और बच्चों को चिकित्सकों की विशेष निगरानी (Special supervision of doctors) में रखा जा रहा है. एक साथ 5 बच्चों के जन्म की जानकारी के बाद अस्पताल (Hospital) में यह चर्चा का विषय (Topic of discussion) बना रहा.

सभी बच्चों का वजन सामान्य से काफी कम है
जयपुर के उपनगर सांगानेर निवासी 25 वर्षीया रुखसाना ने शनिवार को सुबह करीब 8.15 बजे शहर के चांदपोल स्थित जनना अस्पताल में इन बच्चों को जन्म दिया. सिजेरियन डिलीवरी से हुए इन बच्चों का वजन सामान्य नवजातों से काफी कम है. इन बच्चों का वजन 400 ग्राम से लेकर 1 किलो तक का है. प्री-मैच्योर डिलीवरी और दुर्लभ केस होने के कारण इन बच्चों और प्रसूता को चिकित्सकों की विशेष निगरानी में रखा जा रहा है. यह महिला की तीसरी डिलीवरी बताई जा रही है.

अस्पताल में दिनभर चर्चा का विषय बना रहा 5 बच्चों का जन्म

रुखसाना काफी समय से जनाना अस्पताल में ही अपना उपचार करवा रही थी. अस्पताल प्रबंधन के अनुसार, रुखसाना लेबर पेन की शिकायत पर अस्पताल में भर्ती हुई थी. जुड़वा बच्चों के तो कई केस सामने आते रहते हैं. लेकिन अस्पताल प्रशासन इस केस को रेयर मानते हुए प्रसूता और नवजात बच्चों की विशेष देखभाल में जुटा हुआ है. अस्पताल में महिला द्वारा 5 बच्चों को जन्म देने की सूचना मिलने पर यह दिनभर चर्चा का विषय रहा. लोगों में बच्चों को देखने की उत्सुकता बनी रही. रुखसाना के पति के अनुसार, उन्हें उपचार की जानकारी समय-समय पर दी जाती रही है. प्रसूता का स्वास्थ्य भी अब ठीक बताया जा रहा है.

10 साल से खुद के बाल खा रही थी युवती, पेट से निकला 600 ग्राम बालों का गुच्छा

कोटा: 13 दिन के जुड़वा बच्चों को दुर्लभ बीमारी से मिली निजात,पढ़ें-देश पहला केस!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 13, 2019, 3:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...