Home /News /rajasthan /

women legislator conference to be held in kerala out of 27 women mlas of rajasthan only 10 showed interest rjsr

वूमेन्स लेजिस्लेटर कॉन्फ्रेंस: राजस्थान की 27 महिला विधायकों में से केवल 10 ने ही दिखाई रूचि

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इस सेमीनार में बतौर वक्ता शामिल होंगी.

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इस सेमीनार में बतौर वक्ता शामिल होंगी.

वूमेन्स लेजिस्लेटर कॉन्फ्रेंस केरल: आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आगामी 26 मई से 28 मई तक केरल विधानसभा में 'वूमेन्स लेजिस्लेटर कॉन्फ्रेंस' (Women Legislator's Conference) का आयोजन किया जायेगा. इस सेमीनार में राजस्थान की महज 10 महिला विधायकों ने रुचि दिखाई है. जबकि इसमें 27 महिला विधायकों को आमंत्रित किया गया था.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. देश की आजादी के 75 साल होने पर अमृत महोत्सव (Azadi ka amrit mahotsa) के तहत केरल विधानसभा में आगामी 26 मई से 28 मई तक ‘वूमेन्स लेजिस्लेटर कॉन्फ्रेंस’ (Women Legislator’s Conference) का आयोजन किया जा रहा है. हैरत की बात यह है कि राजस्थान से 27 महिला विधायकों को इस सेमिनार में शामिल होने के लिये आमंत्रित किया गया था लेकिन महज 10 ने इसमें रुचि दिखाई है. राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री एवं वर्तमान विधायक वसुंधरा राजे इस सेमीनार में बतौर वक्ता शामिल होंगी. तीन दिन चलने वाली इस की सेमिनार में 30 महिला सांसदों और पूर्व सासंदों समेत सांसद शशि थरूर का ‘लोकतंत्र की ताकत’ विषय पर उद्बबोधन होगा.

आजादी के अमृत महोत्सव के तहत केरला विधानसभा में हो रही इस सेमिनार का उद्घाटन राष्ट्रपति रामनाथ कोंविद करेंगे. लोकसभा-राज्यसभा और राज्य की विधानसभाओं तथा विधान परिषद की महिला सदस्यों समेत पूर्व महिला सांसदों को इस सेमीनार में बुलाया गया है. राजस्थान से आमंत्रित की गई 27 महिला विधायकों में से दो मंत्रियों समेत दस महिला विधायक ही इस तीन दिवसीय सेमिनार में शामिल होंगी.

ये महिला विधायक होंगी शामिल
केबिनेट मंत्री ममता भूपेश और शकुन्तला रावत समेत विधायक अनिता भदेल, इंदिरा मीणा, चन्द्रकान्ता मेघवाल, प्रीति शक्तावत, मनीषा पंवार, साफिया जुबेर, दीप्ति माहेश्वरी व दिव्या मदेरणा इस सेमिनार में हिस्सा लेंगी.

महिलाओं के इन मु्द्दों पर होगा मंथन
तीन दिन तक चलने वाली इस सेमिनार में 26 और 27 मई को उद्घाटन-सत्र के अलावा चार सत्रों का आयोजन किया जाएगा. 26 मई को पहले सत्र में ‘संविधान और महिलाओं के अधिकार’ और दूसरे सत्र में ‘भारत के स्वतंत्रता संग्राम में महिलाओं की भूमिका’ पर चर्चा होगी. उसके बाद 27 मई को पहले सत्र में ‘महिला अधिकार और कानूनी कमियां’ और दूसरे सत्र में ‘निर्णय लेने वाली संस्थाओं में महिलाओं का कम प्रतिनिधित्व’ पर चर्चा की जायेगी.

सभी विषय महिलाओं के अधिकार और उनकी भूमिका से जुड़े हैं
उल्लेखनीय है कि अक्सर महिला जनप्रतिनिधियों से अपेक्षा रहती हैं कि वे महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर आगे आयें. लेकिन आजादी के अमृत महोत्सव पर महिला जनप्रतनिधियों के कार्यक्रम में उनकी अरूचि चर्चा का विषय बनी हुई है. इस सेमीनार में जितने भी विषयों पर चर्चा होनी है वे सभी महिलाओं के अधिकार और उनकी भूमिका से जुड़े हैं.

Tags: Jaipur news, Political news, Rajasthan news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर