उत्तर पश्चिम रेलवे के यार्ड रि-मॉडलिंग के काम ने तोड़ी कामगारों की कमर

उत्तर पश्चिम रेलवे का राजधानी जयपुर के जंक्शन पर यार्ड रि-मॉडलिंग का काम कामगारों पर भारी पड़ रहा है. जयपुर जंक्शन पर जहां पहले प्रतिदिन 100 से ज्यादा ट्रेनों का आवागमन होता था वहां अब महज 20 से 25 ट्रेनों की आवाजाही हो रही है.

Asif Khan | News18 Rajasthan
Updated: August 11, 2019, 5:00 PM IST
उत्तर पश्चिम रेलवे के यार्ड रि-मॉडलिंग के काम ने तोड़ी कामगारों की कमर
सूना पड़ा जयपुर जंक्शन। फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।
Asif Khan | News18 Rajasthan
Updated: August 11, 2019, 5:00 PM IST
उत्तर पश्चिम रेलवे का राजधानी जयपुर के जंक्शन पर यार्ड रि-मॉडलिंग का काम कामगारों पर भारी पड़ रहा है. जयपुर जंक्शन पर जहां पहले प्रतिदिन 100 से ज्यादा ट्रेनों का आवागमन होता था वहां अब महज 20 से 25 ट्रेनों की आवाजाही हो रही है. रि-मॉडलिंग के लिए त्योहारी सीजन में उठाए गए रेलवे प्रशासन के इस कदम ने रेलयात्रियों के बूते रोजी रोटी कमाने वाले मेहनतकश मजदूर की कमर तोड़कर रख दी है.

72 ट्रेनें रद्द होने, 62 ट्रेनें आंशिक रद्द
जुलाई माह के अंत में 72 ट्रेनें रद्द होने, 62 ट्रेनें आंशिक रद्द होने और 29 ट्रेनों का रूट बदलने के बाद जयपुर जंक्शन पर सन्नाटा-सा पसरा रहता है. इसका सबसे ज्यादा असर प्लेटफॉर्म पर मौजूद टी स्टॉल, बुक स्टॉल और दूसरा ज़रूरी सामान बेचने वालों की ज़िंदगी पर हुआ है. इन लोगों का मानना है कि NWR ने त्यौहार के समय ट्रेनें बंद करने का जो फैसला लिया है वह कोढ़ में खाज की तरह साबित हुआ है. अब उनकी आमदनी लगभग खत्म हो चुकी है. खाने के भी लाले पड़ने की नौबत आ गई है. जबकि त्योहारी सीजन होने के कारण अब आम दिनों की बजाय ज्यादा आमदनी की उम्मीद थी.

कामगारों की फाकाकस्सी की नौबत आई

पहले जो कुली पहले रोज़ के 200 से 400 रूपए कमा लेते थे. अब उनके सामने एक वक्त के खाने का भी संकट खड़ा हो गया है. जबकि त्योहारी सीजन में कुलियों की प्रतिदिन की कमाई 600 से 700 रुपए तक पहुंच जाती है. लेकिन इस बार कमाई बढ़ना तो दूर की बात जो थी वह भी बंद हो गई और फाकाकस्सी की नौबत आ गई है.

काम सितंबर के पहले सप्ताह तक पूरा होने की उम्मीद
हालांकि NWR के मुताबिक रि-मॉडलिंग का काम सितंबर के पहले सप्ताह तक पूरा होने की उम्मीद है, लेकिन बरसात के चलते ये लंबा भी खींच सकता है. इस काम के पूरा होने पर जयपुर जंक्शन को 7 प्लेटफॉर्म मिल जाएंगे. उसके बाद रेल यातायात पहले से ज्यादा बढ़ जाएगा.
Loading...

BJP ने बढ़ाया कुनबा, 33 लाख से ज्यादा सदस्य बनाने का दावा

पाकिस्तानी बोल- जिसको जाना है वो जाए, यह अंतिम ट्रेन है

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 11, 2019, 4:30 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...