लाइव टीवी

यशवंत सिन्हा ने लगाया आरोप, बोले- मुद्दों से ध्यान भटका रही है मोदी सरकार
Jaipur News in Hindi

भाषा
Updated: January 23, 2020, 11:04 PM IST
यशवंत सिन्हा ने लगाया आरोप, बोले- मुद्दों से ध्यान भटका रही है मोदी सरकार
यशवंत सिन्हा ने बीजेपी पर लगाए ये आरोप

पूर्व केंद्रीय वित्त व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए सीएए (CAA) एनआरसी (NRC) एनपीआर (NPR) को काला कानून बताया.

  • Share this:
जयपुर. पूर्व केंद्रीय वित्त व विदेश मंत्री यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) ने केन्द्र की नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार पर निशाना साधते हुए गुरुवार को यहां कहा कि वह ज्वलंत मुद्दों से लोगों का ध्यान बांटने का काम कर रही है. यहां मीडिया से बातचीत में सिन्हा ने कहा, 'केन्द्र सरकार ज्वलंत मुद्दों से लोगों का ध्यान बांटने का काम कर रही है लेकिन ध्यान कुछ समय के लिए ही भटकता है. देश की जनता समझदार है जो परिणाम देने में देर नहीं लगाती है.'

सीएए व एनआरसी का किया विरोध
सिन्हा ने केन्द्र सरकार द्वारा लाए गए सीएए, एनआरसी, एनपीआर को काला कानून बताया. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार संसद में इसे वापस लेने की घोषणा करें तथा देश में जो हिंसा हुई है खासकर भाजपा शासित राज्यों में उसकी न्यायिक जांच हो. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने सीएए व एनआरसी को संविधान विरुद्ध और समाज को बांटने वाला कानून बताया.

देश में है अशांति का माहौल 

सिन्हा ने कहा कि देश पहले से ही अनेक समस्याओं से जूझ रहा है. देश में किसान, युवाओं की समस्याओं के साथ ही बेरोजगारी सहित अनेक समस्याएं है. अशांति का माहौल है ऐसे में हम सबकी जिम्मेदारी बढ़ जाती हैं. ऐसे में केन्द्र सरकार को चाहिए कि वह बिना किसी जाति, धर्म व भेदभाव के कार्य कर अपनी संवैधानिक जिम्मेदारी निभाएं. सिन्हा सीएए के खिलाफ कई राज्यों की यात्रा कर रहे हैं.

देशवासियों का ध्यान भटका रही है सरकार
यशवंत सिन्हा ने कुछ दिनों पहले ही कोटा में कहा था कि सीएए (CAA) गैर संवैधानिक और अनावश्‍यक है. सीएए के खिलाफ देशभर में गांधी शांति यात्रा के जरिए हम देश की जनता को जागरूक कर रहे हैं. कोटा में सिन्हा ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सीएए को लाने की पीछे केन्द्र सरकार की मंशा है कि बुनियादी मुददों से देशवासियों का ध्यान भटके. साथ ही उन्‍होंने कहा कि मौजूदा केंद्र सरकार कई फ्रंट पर फेल हो रही है.3000 किलोमीटर लंबी इस यात्रा को एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने गेटवे ऑफ इंडिया से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया है. जबकि यह यात्रा महाराष्ट्र, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, हरियाणा से होकर 30 जनवरी को दिल्ली के राजघाट पर समाप्त होगी. इस दौरान तीन हजार किलोमीटर का सफर तय किया जाएगा.

ये भी पढ़ें: 

विधानसभा: कल से शुरू होगा सत्र, BJP ने बनाई रणनीति, पार्टी ने जारी किया व्हिप

दौसा: सात साल से फरार चल रहे गैंगरेप के तीन आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 23, 2020, 11:04 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर