यूथ कांग्रेस चुनाव: नतीजों की आधिकारिक घोषणा अटकी, धांधली का आरोप, जांच कमेटी गठित

3 मार्च को यूथ कांग्रेस उम्मीदवारों को मिले वोटों के आंकड़े जारी किए गए थे. 
इसमें सुमित भगासरा सबसे ज्यादा वोट लेकर प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव जीते थे.
3 मार्च को यूथ कांग्रेस उम्मीदवारों को मिले वोटों के आंकड़े जारी किए गए थे. इसमें सुमित भगासरा सबसे ज्यादा वोट लेकर प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव जीते थे.

राजस्थान यूथ कांग्रेस (Rajasthan Youth Congress) के संगठन चुनावों में भारी गड़बड़ियों की शिकायत के बाद नतीजों की आधिकारिक घोषणा (Declaration) अटक गई है. यूथ कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (Central election authority) ने गड़बड़ियों की जांच के लिए एक कमेटी (Committee) बनाई है.

  • Share this:
जयपुर. राजस्थान यूथ कांग्रेस (Rajasthan Youth Congress) के संगठन चुनावों में भारी गड़बड़ियों की शिकायत के बाद नतीजों की आधिकारिक घोषणा (Declaration) अटक गई है. यूथ कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण (Central election authority) ने गड़बड़ियों की जांच के लिए एक कमेटी (Committee) बनाई है. इस कमेटी की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही अब संगठन चुनाव के नतीजे घोषित किए जाएंगे. पहले 9 मार्च को आधिकारिक नतीजे घोषित किए जाने थे.

सुमित भगासरा सबसे ज्यादा वोट लेकर प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव जीते थे
3 मार्च को यूथ कांग्रेस उम्मीदवारों को मिले वोटों के आंकड़े जारी किए गए थे. इसमें सुमित भगासरा सबसे ज्यादा वोट लेकर प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव जीते थे. यूथ कांग्रेस के संगठन चुनाव में पहली बार ऑनलाइन एप के जरिए वोटिंग हुई थी. ऑनलाइन वोटिंग पर कई उम्मीदवारों ने सवाल उठाते हुए इसका विरोध किया था. यूथ कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष का चुनाव लड़ रहे कई उम्मीदवारों ने केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण में गड़बड़ियों की शिकायत की थी.

ऑनलाइन वोटिंग में भारी धांधली का आरोप
प्रदेशाध्यक्ष के उम्मीदवार सत्यवीर आलोरिया, राकेश मीणा और रोमा जैन ने दिल्ली में यूथ कांग्रेस के केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण के कार्यालय पर विरोध प्रदर्शन भी किया था. इन उम्मीदवारों ने ऑनलाइन वोटिंग में भारी धांधली का आरोप लगाया है. इनका आरोप है कि इनके खुद के वोट भी प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार के खाते में चले गए. बिना गड़बड़ी किए यह संभव नहीं है.



 

 

मतदान प्रतिशत 25 फीसदी से भी कम रहा था
ऑनलाइन वोटिंग में मतदान प्रतिशत 25 फीसदी से भी कम रहा था. गड़बड़ियों की जांच के लिए कमेटी बनने के बाद अब आधिकारिक नतीजों की घोषणा में देरी के आसार हैं. पंजाब के संगठन चुनावों में भी इसी तरह की गड़बड़ियों की शिकायतें मिलने के बाद जांच कमेटी बनी थी और नतीजे घोषित होने में एक माह से ज्यादा का वक्त लगा था.

 

यूथ कांग्रेस: 7 साल बाद मिला नया प्रदेशाध्यक्ष, देखें किसको कितने मिले वोट 

 

60 साल की उम्र में शादी के बंधन में बंधे मुकुल वासनिक, CM गहलोत ने दी बधाई
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज