लाइव टीवी

पाकिस्तान में फंसी हैं तीन दुल्हनें, जनवरी से पति कर रहे हैं इंतज़ार

News18Hindi
Updated: June 29, 2019, 8:24 PM IST
पाकिस्तान में फंसी हैं तीन दुल्हनें, जनवरी से पति कर रहे हैं इंतज़ार
राजस्थान के पाकिस्तानी बॉर्डर के जिलों जैसलमेर और बाड़मेर से पाकिस्तान जाकर शादी करने वाले तीन युवकों की दुल्हनों को अभी तक भारत आने के लिए वीज़ा नहीं मिल पाया है.

राजस्थान के पाकिस्तानी बॉर्डर के जिलों जैसलमेर और बाड़मेर से पाकिस्तान जाकर शादी करने वाले तीन युवकों की दुल्हनों को अभी तक भारत आने के लिए वीज़ा नहीं मिल पाया है.

  • Share this:
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकी हमले के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच पैदा हुआ तनाव खत्म नहीं हुआ है. इसका सीधा असर सरहद पार की रिश्तेदारी पर पड़ रहा है. ऐसे में भारत पाकिस्तान से इस पार आने वाले लोगों को वीज़ा देने में लगातार सख्ती बरत रहा है. भारत की इस सख्ती का असर राजस्थान के तीन युवकों पर पड़ा है.

राजस्थान के पाकिस्तानी बॉर्डर के जिलों जैसलमेर और बाड़मेर से पाकिस्तान जाकर शादी करने वाले तीन युवकों की दुल्हनों को अभी तक भारत आने के लिए वीज़ा नहीं मिल पाया है. इनमें से दो दूल्हे तो पिछले पांच महीने से अपनी दुल्हनों के आने के इंतज़ार में हैं. जबकि एक दूल्हा पाकिस्तान में ही रहकर अपनी दुल्हन के वीज़ा मिलने का इंतज़ार कर रहा है.

जनवरी में हुई थी शादी अभी तक नहीं हुई विदाई
जैसलमेर जिले के बइया गांव से विक्रम सिंह और नेपाल सिंह का विवाह पाकिस्तान के सिंध प्रांत कि युवतियों से हुआ थे. ये दोनों ही थार एक्सप्रेस से अपनी शादी के लिए वहां गए थे. इनमें विक्रम की शादी 22 जनवरी को थी वहीं नेपाल सिंह की शादी 26 जनवरी को थी.



इसी के बाद भारत-पाक के बीच आई तल्खी की वजह से दोनों की दुल्हनों को वीज़ा नहीं मिल सका. इसके बाद पहले तो दोनों ने थोड़े दिन पाकिस्तान में ही अपने रिश्तेदारों के साथ ठहर कर अपनी पत्नियों के वीज़ा मिलने का इंतज़ार किया लेकिन फिर जब कई दिन तक बात नहीं बन सकी तो दोनों वापस लौट आए.

पत्नी के साथ दूल्हा भी वीज़ा के इंतज़ार में रुका
Loading...

वहीं राजस्थान के ही बाड़मेर के महेंद्र सिंह की बारात अप्रैल महीने में पाकिस्तान गई थी. शादी के कुछ दिन बाद तक भी जब दुल्हन को वीज़ा नहीं मिला तो दूल्हे के साथ बाराती भी वहीं ठहर गए. लेकिन लाख कोशिशों के बाद भी जब दुल्हन को वीज़ा नहीं मिल सका तो बाराती तो लौट आए लेकिन दूल्हा अपनी पत्नी को साथ में लेकर आने के लिए अभी भी वहीं ठहरा हुआ है. अभी भी उसकी पत्नी को वीज़ा नहीं मिल सका है.

इन दूल्हों के परिवार सरकारी अधिकारियों और नेताओं से मुलाकात कर दुल्हनों के वीज़ा हासिल करने की कोशिशों में लगे हुए हैं.

ये भी पढ़ें-
कोटा में अपहृत दुल्हन के पिता की मौत, माहौल गरमाया

पाक सीमा पर तैनात BSF के 7500 जवान घर बात करने को तरसे

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जैसलमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 29, 2019, 8:01 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...