अब 600 'निगाहें' करेंगी जैसलमेर की चौकसी

अभय कमांड सेंटर के रूप में जल्द ही जैसलमेर को नया निगेहबान मिलने वाला है. शहर में जोर शोर से कैमरे लगवाने का काम चल रहा है और 25 मार्च तक सभी कैमरे लगाने का काम पूरा होने की उम्मीद है.

Sikandar Sheikh | ETV Rajasthan
Updated: March 13, 2018, 8:39 PM IST
अब 600 'निगाहें' करेंगी जैसलमेर की चौकसी
जयपुर का अभय कमांड सेंटर. (file photo)
Sikandar Sheikh | ETV Rajasthan
Updated: March 13, 2018, 8:39 PM IST
कानून व्यवस्था के मोर्चे पर जैसलमेर को ‘अभय कमांड सेंटर’ का सहारा मिलने जा रहा है. इसके अंतर्गत कुल 600 सीसी टीवी कैमरे इस करीब पांच किलोमीटर की परिधि में फैले शहर के चप्पे-चप्पे में लगाने का कार्य युद्ध स्तर पर जारी है. आगामी 25 मार्च तक इनके लगवाने का कार्य भी खत्म हो जाएगा. उनकी निगरानी के लिए महिला पुलिस थाना के पास कमांड एवं कंट्रोल रूम भी बनकर तैयार हो रहा है. इसे अभय कमांड सेंटर का नाम दिया जाएगा.

जैसलमेर की एम्बुलेंस और अग्निशमन गाडिय़ों तक की मोनेटरिंग इसी सेंटर से की जाएगी. इससे एक तरफ जहां अपराध पर रोकथाम लगेगी वहीं आमजन में भी सुरक्षा की भावना प्रबल होगी.

जयपुर और अन्य शहरों की तर्ज पर राज्य सरकार द्वारा जैसलमेर शहर में भी अपनी महत्ती योजना अभय कमांड सेंटर की स्थापना के प्रयास युद्ध स्तर पर शुरू हो गए हैं. जैसलमेर चूंकि एक पर्यटन नगरी है और यहां लाखों की संख्या में देसी वेद्शी सैलानी आते हैं तो इस लिहाज से उनकी सुरक्षा की जिम्मेदारी ज्यादा बढ़ जाती है. इसी को देखते हुए जैसलमेर में इन दिनों 600 सीसीटीवी कैमरे लगाए जा रहे हैं.

सीसीटीवी कैमरे इंटरनेट के जरिए कमांड सेंट से जुड़े रहेंगे. इसके लिए अलग से ओएफसी लाइन बिछाई गई है. एक साथ 600 कैमरों की निगरानी के लिए बनने वाले अभय कमांड सेंटर में बड़ी टीवी स्क्रीन लगाई जाएगी और ऑपरेटर तैनात किए जाएंगे.
गौरव यादव, एसपी, जैसलमेर पुलिस


शहर में कहीं भी किसी घटना के घटित होने के तुरंत बाद इन कैमरों को खंगालकर पुलिस अग्रिम कार्रवाई को अंजाम देगी. ये कैमरे उच्च गुणवत्ता वाले और रात के अंधेरे में भी देखने की क्षमता से लैस होंगे. राज्य सरकार की यह योजना प्रदेश के संभागीय मुख्यालयों पर लगभग पूर्ण हो चुकी है और अब जिला मुख्यालयों पर भी ये लगभग 25 मार्च तक लग जायेंगे.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->