Corona virus: ईरान से भारतीयों को आज नहीं 15 मार्च को लाया जाएगा जैसलमेर, यह है कारण
Jaisalmer News in Hindi

Corona virus: ईरान से भारतीयों को आज नहीं 15 मार्च को लाया जाएगा जैसलमेर, यह है कारण
कोरोना वायरस के मरीजों की देखभाल करने वाले तीन पुरूष नर्सों को उनके मकान मालिक ने बाहर निकाला

कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण को देखते हुए ईरान (Iran) स्थित भारतीय मूल के लोगों को शुक्रवार को राजस्थान के जैसलमेर (Jaisalmer) लेकर आने वाले विमान का शिड्यूल (Schedule) बदल गया है. अब ईरान से विमान जैसलमेर 15 मार्च को आएगा.

  • Share this:
जैसलमेर. कोरोना वायरस (Corona virus) के संक्रमण को देखते हुए ईरान (Iran) स्थित भारतीय मूल के लोगों को शुक्रवार को राजस्थान के जैसलमेर (Jaisalmer) लेकर आने वाले विमान का शिड्यूल (Schedule) बदल गया है. इस विमान के जरिए 44 भारतीयों को एयरलिफ्ट (Airlift) किया जाना था. जिला कलेक्टर नमित मेहता के अनुसार जैसलमेर आने वाले विमान की लैंडिंग आज रद्द हो गई है. ईरान से लाए जाने वाले लोगों को फिलहाल कहीं और भेजे जाने की सूचना है. अब ईरान से विमान जैसलमेर 15 मार्च को आएगा.

तैयारियां पूरी कर ली गई थी
इससे पहले ईरान से लाए जाने वाले भारतीयों को जैसलमेर में रखने की तैयारियां पूरी कर ली गई थी. पहले ईरान से 150 भारतीयों को एयरफोर्स के मालवाहक विमान से एयरलिफ्ट कर जैसलमेर लाया जाना था. इन सभी भारतीय नागरिकों की स्क्रीनिंग और टेस्ट में किसी में भी वायरस का संक्रमण नहीं पाया गया है, लेकिन ऐहतियात के तौर पर सामान्य चिकित्सकीय प्रक्रिया के तहत कुछ दिन इन्हें मिलिट्री स्टेशन जैसलमेर में स्थित आईसोलेशन कम वेलनेस सेंटर में रखा जाना था.

कम संख्या के कारण रद्द हुआ कार्यक्रम



लेकिन बाद में यहां लाए जाने वाले भारतीयों की संख्या घटकर 120 रह गई. शुक्रवार को सुबह 44 यात्रियों के आने की फाइलन सुचना आई. जिला कलक्टर नमित मेहता ने बताया कि संख्या कम होने की वजह से विमान का आना कैंसिल हो गया है. अब 15 मार्च को विमान से ईरान में फंसे लोगों को जैसलमेर लाया जाएगा.



जैसलमेर, जोधपुर और सूरतगढ़ में बनाए गए हैं सेंटर
उल्लेखनीय है कि सेना ने कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में प्रशासन की मदद के लिए राजस्थान में जैसलमेर के साथ साथ जोधपुर और सूरतगढ़ में भी विशेष पृथक केंद्र स्थापित किया है. जिला कलक्टर के मुताबिक यह आइसोलेशन कम वेलनेस सेंटर शहर से दूर मिलिट्री स्टेशन में स्थापित है. इसलिए किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है. यह कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए अपनायी जाने वाली एक सामान्य चिकित्सकीय प्रक्रिया का हिस्सा है. जिला प्रशासन लगातार मिलिट्री अधिकारियों के सम्पर्क में है. मिलिट्री के साथ पूर्ण समन्वय बनाए रखते हुए इससे संबंधित सभी प्रकार का वांछित सहयोग दिया जा रहा है.

 

सैर सपाटे पर निकले मध्यप्रदेश के विधायक, खाटूश्यामजी पहुंचे, मांगी ये मन्नत

 

जयपुर: राज्य सरकार ने राजस्थान हाउसिंग बोर्ड को बनाया जबर्दस्त 'पावरफुल'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading