होम /न्यूज /राजस्थान /Coronavirus: ईरान से 234 भारतीयों को लेकर जैसलमेर पहुंचा विमान, 131 छात्र और 103 श्रद्धालु

Coronavirus: ईरान से 234 भारतीयों को लेकर जैसलमेर पहुंचा विमान, 131 छात्र और 103 श्रद्धालु

भारत सरकार ने विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों को कुछ शर्तों के साथ अब देश लौटने का अलर्ट जारी किया है.

भारत सरकार ने विदेश में फंसे भारतीय नागरिकों को कुछ शर्तों के साथ अब देश लौटने का अलर्ट जारी किया है.

कोरोना वायरस (Coronavirus) की दहशत के बीच ईरान (Iran) से 234 भारतीयों को लेकर एयर इंडिया का विशेष विमान रविवार को सुबह ...अधिक पढ़ें

    जैसलमेर. कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की दहशत के बीच ईरान से 234 भारतीयों को लेकर एयर इंडिया का विशेष विमान रविवार सुबह जैसलमेर पहुंचा. यह विमान पहले ईरान से दिल्ली आया और उसके बाद जैसलमेर पहुंचा. ईरान से लाए गए सभी यात्रियों को एयरपोर्ट से आर्मी एरिया ले जाया जाएगा. आर्मी एरिया में बने आइसोलेशन वार्ड में इनकी स्क्रीनिंग होगी. एयरपोर्ट पर मौजदू सुरक्षा और चिकित्सा की टीमें उनकी देखरेख में जुटी हैं. विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बताया कि ईरान से भारत लाए गए लोगों में से 131 छात्र और 103 श्रद्धालु हैं. खबर है कि एक और विमान इटली से जैसलमेर पहुंच है. विदेश मंत्री जयशंकर ने कहा, 'राजदूत धामू गद्दाम और ईरान में भारतीय टीम के प्रयासों के लिए उनका शुक्रिया' ईरानी अधिकारियों का शुक्रिया.'

    जैसलमेर लाए गए भारतीयों की ईरान में जांच की गई थी, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई है. इसके बावजूद एहतियात के तौर पर सभी 234 लोगों को जैसलेमर लया गया है. इन सबकी दोबारा जांच की जाएगी. जिला कलेक्टर नमित मेहता ने आमलोगों से अपील की है कि वे भयभीत न हों. इन यात्रियों को 13 मार्च को ही जैसलमेर लाया जाना था, लेकिन यात्रियों की संख्या कम होने के कारण उस दिन उन्हें जैसलमेर नहीं लाया जा सका था. उसके बाद ईरान में फंसे भारतीयों को रविवार को जैसलमेर लाया गया. ईरान से लाए गए भारतीयों को जैसलमेर में रखने की पूरी तैयारी की गई है. एहतियात के तौर पर सामान्य चिकित्सकीय प्रक्रिया के तहत कुछ दिन इन्हें जैसलमेर के मिलिट्री स्टेशन में स्थित आइसोलेशन कम वेलनेस सेंटर में रखा जाएगा.




    जोधपुर और सूरत में भी आइसोलेशन सेंटर
    गौरतलब है कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में सेना ने प्रशासन की मदद के लिए राजस्थान के जैसलमेर के साथ-साथ जोधपुर और सूरतगढ़ में भी विशेष पृथक केंद्र स्थापित किए हैं. जिला कलेक्टर के मुताबिक, आइसोलेशन कम वेलनेस सेंटर शहर से दूर मिलिट्री स्टेशन में बनाया गया है. इसलिए किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है. कोरोना वायरस संक्रमण रोकने के लिए अपनाई जाने वाली यह एक सामान्य चिकित्सकीय प्रक्रिया का हिस्सा है. जिला प्रशासन लगातार सेना के अधिकारियों के संपर्क में है. वह उनसे पूरी तरह से समन्वय बनाए हुए है.

    मंगलवार को आया था पहला जत्‍था
    बता दें कि ईरान से भारतीयों का तीसरा जत्था रविवार तड़के पहुंचा भारत पहुंचा. इससे पहले 44 भारतीय श्रद्धालुओं का दूसरा जत्था शुक्रवार को ईरान से यहां पहुंचा था. ईरान कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देशों में शामिल है और सरकार वहां फंसे भारतीयों को वापस लाने की योजनाओं पर काम कर रही है. ईरान से 58 भारतीय श्रद्धालुओं का पहला जत्था मंगलवार को लौटा था.

    Corona virus: स्पेन से लौटा जयपुर निवासी युवक कोरोना वायरस 'पॉजिटिव'

    Corona virus: 30 मार्च तक स्कूल, कॉलेज, कोचिंग सेंटर व सिनेमाघर बंद

    Tags: Corona Virus, Jaisalmer news, Rajasthan news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें