होम /न्यूज /राजस्थान /Crop Damage: बेमौसम बारिश से किसानों को नुकसान, इसबगोल और जीरे की 50% से ज्यादा फ़सल खराब

Crop Damage: बेमौसम बारिश से किसानों को नुकसान, इसबगोल और जीरे की 50% से ज्यादा फ़सल खराब

 खेत में बारिश के पश्चात खराब हुई फसल‌‌

खेत में बारिश के पश्चात खराब हुई फसल‌‌

गुरुवार की सुबह जिले के रामदेवरा, पोखरण, खेतोलाई, फतेहगढ़ में बदले मौसम के मिजाज ने ठंडक के साथ किसानों के लिए मुसीबत ख ...अधिक पढ़ें

प्रतापा राम

जैसलमेर. पश्चिमी विक्षोभ के कारण राजस्थान के जैसलमेर में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश हुई है. कई इलाकों में ओलावृष्टि भी हुई. गुरुवार की सुबह जिले के रामदेवरा, पोखरण, खेतोलाई, फतेहगढ़ में बदले मौसम के मिजाज ने ठंडक के साथ किसानों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी है. बारिश के कारण खेतों में खड़ी इसबगोल और जीरे की फसल 50 प्रतिशत से ज्यादा तक खराब हो गई है. इसके अलावा, रायडा, सरसों और गेहूं में भी आंशिक नुकसान हुआ है.

दरअसल, पिछले दिनों कड़ाके की ठंड और पाले की वजह से रायडा और सरसों की फसल को नुकसान हुआ था. अब बेमौसम बारिश किसानों के लिए दोहरी मार साबित हो रही है. मौसम विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ के कारण मौसम में बदलाव आएगा. यह स्थिति अगले दो-तीन दिन तक यूं ही बनी रहेगी. राजस्थान के बीकानेर, श्रीगंगानगर, हनुमानगढ़, चूरू, झुंझुनूं, जोधपुर, पाली, अजमेर, नागौर और सीकर जिले के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. सिस्टम का असर देखते हुए इन जिलों में शुक्रवार को भी ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है.

फसल बर्बाद होने पर ऐसे मिलेगा किसान को भुगतान

बारिश और ओलावृष्टि के कारण फसल को नुकसान होने के बाद किसान को सबसे पहले बीमा कंपनी या कृषि विभाग कार्यालय को जानकारी देनी चाहिए. अगर किसान फसल खराब होने के 72 घंटे के भीतर जानकारी देंगे तो सबसे बेहतर होगा. इससे बैंक, बीमा कंपनी या कृषि विभाग को नुकसान की पुष्टि करने में आसानी होगी और किसानों को दावे का भुगतान जल्‍द किया जा सकेगा.

राजस्‍थान सरकार ने किसानों के लिए हेल्‍पलाइन नंबर जारी किया है. इस पर जानकारी देकर फसल मुआवजे का दावा किया जा सकता है

Tags: Crop Damage, Heavy rain, Jaisalmer news, Rajasthan news in hindi

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें