Home /News /rajasthan /

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर लगेंगे टूरिज्म को पंख, तनोट-लोंगेवाला-बबलियान पर्यटन सर्किट बनेगा

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर लगेंगे टूरिज्म को पंख, तनोट-लोंगेवाला-बबलियान पर्यटन सर्किट बनेगा

बबलियान सीमा चौकी पर सीमा सुरक्षा बल की ओर से रिट्रीट सेरेमनी का प्रदर्शन किया जायेगा.

बबलियान सीमा चौकी पर सीमा सुरक्षा बल की ओर से रिट्रीट सेरेमनी का प्रदर्शन किया जायेगा.

Jaisalmer Border Tourism: नीति आयोग ने भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा पर जैसलमेर बॉर्डर टूरिज्म को मंजूरी दे दी है. इस प्रोजेक्ट के तहत तनोट-लोंगेवाला-बबलियान सर्किट (Tanot-Longewala-Babliyan circuit) को विकसित किया जाएगा. वहीं बबलियान सीमा चौकी पर वॉच-टावर, दर्शक दीर्घा, कैफेटेरिया इत्यादि का निर्माण किया जाएगा. बबलियान सीमा चौकी पर सीमा सुरक्षा बल की ओर से रिट्रीट सेरेमनी का प्रदर्शन किया जायेगा.

अधिक पढ़ें ...

    श्रीकांत व्यास.

    जैसलमेर. भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सरहद पर बॉर्डर टूरिज्म (Border Tourism) को नीति आयोग की ओर से हरी झंडी मिल गई है. जैसलमेर पर्यटन को बढ़ावा देने को लेकर जिला कलेक्टर आशीष मोदी की पहल पर एक प्रोजेक्ट बनाकर नीति आयोग (NITI Aayog) को भेजा गया था. इसके बाद बीएसएफ डीजी पंकज सिंह के सहयोग से अब इस प्रोजेक्ट को अमली जामा पहनाया जायेगा. जिला प्रशासन की ओर से बॉर्डर टूरिज्म पर बनाए गए प्रोजेक्ट को नीति आयोग ने मंजूर कर लिया है. इस प्रोजेक्ट के तहत तनोट-लोंगेवाला-बबलियान सर्किट को विकसित किया जाएगा.

    जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने बताया इस प्रोजेक्ट के तहत सरहदी पर्यटन को बढ़ावा दिए जाने के साथ ही सीमा सुरक्षा बल की कार्य शैली के बारे में सैलानियों को बताया जाएगा. बॉर्डर टूरिज्म के माध्यम से BSF किस तरह से बॉर्डर पर काम करती है और यहां सैनिक कैसे जीवन बिताते हैं इससे सैलानियों को रू-ब-रू करवाया जाएगा. आगामी मरू महोत्सव से पूर्व इस प्रोजेक्ट को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है ताकि इसमें आने वाले देसी और विदेशी सैलानियों को सरहद पर तैनात जवानों की शौर्य वीर गाथाओं और विषम परिस्थितियों में देश की सुरक्षा करने के जज्बे से रू-ब-रू करवाया जा सके.

    बॉर्डर पर BSF की रिट्रिट सेरेमनी का होगा आयोजन
    जिला कलेक्टर आशीष मोदी ने बताया कि इस प्रोजेक्ट के तहत बबलियान सीमा चौकी पर वॉच-टावर, दर्शक दीर्घा, कैफेटेरिया इत्यादि का निर्माण किया जाएगा. बबलियान सीमा चौकी पर सीमा सुरक्षा बल की ओर से रिट्रीट सेरेमनी का प्रदर्शन किया जायेगा. भारतीय एवं विदेशी पर्यटकों को केवल पर्यटन के उद्देश्य से तनोट एवं बबलियान घूमने की परमिशन को ऑनलाइन किया जाएगा. इसके साथ ही जैसलमेर और तनोट में पर्यटक स्वागत केन्द्र एवं सुविधा केन्द्र का निर्माण किया जाना शामिल है.

    जैसलमेर के पर्यटन को नए पंख लगेंगे
    दरअसल जैसलमेर जिला आकांक्षी कार्यक्रम में शामिल है. इसके तहत जिला प्रशासन की ओर से बनाए गए प्रोजेक्ट को नीति आयोग ने सीमावर्ती पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए स्वीकृति प्रदान की है. इस खबर से जैसलमेर में खुशी की लहर है. बॉर्डर टूरिज्म से जैसलमेर के पर्यटन को नए पंख लगेंगे और यहां सैलानियों की रेलमपेल बढ़ेगी.

    न्यूज 18 ने भी चलाई थी बड़ी मुहिम
    इस मुद्दे को लेकर न्यूज 18 ने भी बड़ी मुहिम चलाई थी. अब वह मुहिम रंग लाई है. जैसलमेर में नीति आयोग की ओर से बॉर्डर टूरिज्म को हरी झंडी देने के बाद पर्यटन व्यवसायियों के चेहरों पर खुशी की लहर साफ देखी जा रही है. पर्यटन से जुड़े लोगों का कहना है कि बॉर्डर टूरिज्म जैसलमेर में पर्यटन व्यवसाय में बढोतरी की अपार संभावनायें लेकर आया है. इससे सीमावर्ती क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए अब रोजगार के नए अवसर भी सृजित होंगे.

    Tags: BSF, India pakistan, Indian army, Rajasthan latest news, Rajasthan News Update

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर