लाइव टीवी

पाकिस्तान से आए टिड्डी दल ने फिर से किया जैसलमेर में कब्जा, किसानों में हड़कंप

News18 Rajasthan
Updated: June 29, 2019, 7:24 PM IST

जैसलमेर में एक बार फिर से पाकिस्तान से आए टिड्डी दल ने हमला किया है. जिले के भादरिया गांव के पास गुरुवार रात से टिड्डी दल ने डेरा जमाया. वह बाद में करीब 15 किलोमीटर क्षेत्र तक फैल गया है.

  • Share this:
जैसलमेर में एक बार फिर से पाकिस्तान से आए टिड्डी दल ने हमला किया है. जिले के भादरिया गांव के पास गुरुवार रात से टिड्डी दल ने डेरा जमाया. वह बाद में करीब 15 किलोमीटर क्षेत्र तक फैल गया है. भारी मात्रा में टिड्डियों के आने से किसानों में हड़कंप मचा हुआ है.

जारी है काबू पाने की नाकाम कोशिशें
पाकिस्तान के रास्ते टिड्डियों के दल का भारतीय सीमा में आने का सिलसिला लगातार जारी है. गुरुवार रात को भादरिया इलाके में टिड्डी दल के आने पर वहां की जगदम्बा सेवा समिति ने टिड्डी नियंत्रण दल और जिला प्रशासन को इसकी सूचना दी. इस पर प्रशासन व टिड्डी नियंत्रण दल मौके पर पहुंचे. वहां दो वाहनों से टिड्डियों पर काबू पाने की नाकाम कोशिशें की जा रही हैं.

दो महीनों में लगातार दस इलाकों में आ चुका है टिड्डी दल

हालांकि सीमा पार पाकिस्तान ने टिड्डियों के दल पर नियंत्रण के प्रयास तेज़ कर दिए हैं, लेकिन उसके बावजूद भी टिड्डियों का लगातार आना चिंता का विषय बना हुआ है. इससे पूर्व भी दो महीनों में लगातार जैसलमेर के दस इलाकों में टिड्डियों के दल आए थे. इस बार टिड्डियों के दल के 15 किलोमीटर क्षेत्र में फैलने मिलने की खबर से जिला प्रशासन व किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें खिंच गई हैं.

1998 में टिड्‌डी दल ने किया था हमला
राजस्थान में पाकिस्तानी सीमा से 1998 में भी टिड्‌डी दल ने हमला किया था. तब भी टिड्‌डी अटैक परेशानी का सबब बना था लेकिन 1993 में खरीफ और रबी दोनों फसलों को चट कर गया था. उसे कंट्रोल करने में सरकार के पसीने छूट गए थे. यही कारण है कि अब जैसलमेर इलाके में टिड्‌डी दल को देखे जाने पर उन्हें तुरंत प्रभाव से नष्ट करने का प्रयास किया जा रहा है.
Loading...

एक दिन में 150 किमी तक हवा के साथ उड़ सकता है टिड्डी दल
वयस्क टिड्डी झुंड एक दिन में 150 किमी तक हवा के साथ उड़ सकता हैं. वयस्क टिड्‌डी हर दिन ताजा खाना खाता है और वह अपने वजन जितना खा सकता है. एक अनुमान के अनुसार एक बहुत छोटा झुंड एक दिन में लगभग 35,000 लोगों जितना खाना खाता है. यही कारण है कि किसानों को अपनी फसलों को लेकर चिंता सता रही है.

राजस्थान बॉर्डर पर पहुंचा मानसून, कभी भी हो सकती है एंट्री

मॉब लिंचिंग के खिलाफ सड़कों पर उतरा मुस्लिम समाज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जैसलमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 28, 2019, 7:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...