पंचायत राज चुनाव: जैसलमेर कांग्रेस में बगावत, गहलोत सरकार के मंत्री सालेह मोहम्मद के 4 सगे भाई उतरे चुनाव मैदान में

मंत्री सालेह मोहम्मद के  बगावत करने वाले चार भाइयों में से दो वर्तमान में कांग्रेस के विभिन्न अग्रिम संगठनों के पदाधिकारी हैं.
मंत्री सालेह मोहम्मद के बगावत करने वाले चार भाइयों में से दो वर्तमान में कांग्रेस के विभिन्न अग्रिम संगठनों के पदाधिकारी हैं.

Rebellion in Jaisalmer Congress: जैसलमेर में अशोक गहलोत सरकार के एकमात्र मुस्लिम मंत्री सालेह मोहम्मद (Saleh Mohammed) के चार सगे भाइयों ने पंचायतराज चुनाव में बगावत कर दी है.

  • Share this:
जैसलमेर. पंचायत राज चुनाव में जैसलमेर कांग्रेस (Jaisalmer Congress) में जबर्दस्त बगावत हो गई है. बगावत (Rebellion) का यह झंडा भी किसी और न नहीं बल्कि अशोक गहलोत सरकार के एकमात्र मुस्लिम कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद (Saleh Mohammed) के परिवार ने उठाया है. सालेह मोहम्मद के चार सगे भाई कांग्रेस से बगावत कर चुनाव मैदान में उतर गये हैं. अब कांग्रेस को यहां खतरा प्रतिद्वंदी बीजेपी से नहीं बल्कि अपनी पार्टी के बागियों से ज्यादा हो गया है.

पंचायत राज चुनाव में जैसलमेर में कांग्रेसी ही कांग्रेस को हराने में जुट गये हैं. जिला परिषद और पंचायत समिति चुनावों में टिकट नहीं मिलने से खफा जैसलमेर में कांग्रेस के कट्टर समर्थक रहे गाजी फकीर राजनीतिक परिवार ने बगावत का बिगुल बजा दिया है. इसी परिवार के सालेह मोहम्मद अशोक गहलोत सरकार में अल्पसंख्यक मामलात के कैबिनेट मंत्री हैं.

Rajasthan: राहुल गांधी का जैसलमेर दौरा रद्द, रेगिस्तान में बाइक राइडिंग का था प्‍लान

दो भाई तो वर्तमान में पार्टी के पदाधिकारी हैं


कैबिनेट मंत्री सालेह मोहम्मद के चार भाइयों ने उनकी अनदेखी का आरोप लगाते हुये पंचायत राज चुनाव में बगावत का झंडा बुलंद किया है. बगावत करने वाले चार भाइयों में से दो वर्तमान में कांग्रेस के विभिन्न अग्रिम संगठनों के पदाधिकारी हैं. इनमें अमरदीन फकीर वर्तमान में वे यूथ कांग्रेस के उपाध्यक्ष हैं। वे गत बार जैसलमेर के प्रधान रह चुके हैं. अमरदीन इस बार सम पंचायत समिति सदस्य का निर्दलीय चुनाव का लड़ने के लिये मैदान में उतरे हैं. वहीं उनके दूसरे भाई पिराने फकीर वर्तमान में यूथ कांग्रेस के जिलाध्यक्ष हैं. वे जैसलमेर पंचायत समिति से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में डटे हैं.

छह समर्थकों को भी निर्दलीय चुनाव मैदान में उतारा
इनके अलावा मंत्री सालेह मोहम्मद के 2 और छोटे भाई भी चुनाव मैदान में डटे हैं. इनमें मंत्री के तीसरे भाई इलियास फकीर जैसलमेर पंचायत समिति से मैदान में है. मंत्री के चौथे सगे भाई अमीन फकीर की पत्नी भी जैसलमेर पंचायत समिति से निर्दलीय चुनाव मैदान में डटी हैं. मजे की बात यह है कि मंत्री के भाई अमरदीन फकीर की पत्नी कांग्रेस के सिंबल पर जिला परिषद सदस्य का चुनाव लड़ रही है. वहीं कैबिनेट मंत्री के भाई व पूर्व जिला प्रमुख अब्दुल्ला भी कांग्रेस की टिकट से चुनाव लड़ रहे हैं. मंत्री के सभी बागी भाइयों और उनके समर्थक निर्दलीय उम्मीदवारों का चुनाव चिन्ह अलमारी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज