स्टांप वेंडर व चालक ने SDM के लिए रिश्वत लेना स्वीकारा, ऑडियो हुआ वायरल

Sikandar | News18 Rajasthan
Updated: August 20, 2019, 12:12 PM IST
स्टांप वेंडर व चालक ने SDM के लिए रिश्वत लेना स्वीकारा, ऑडियो हुआ वायरल
स्टांप वेंडर की गिरफ्तारी के दौरान एसीबी की टीम

रामदेवरा में अतिक्रमण नहीं हटाने के नाम पर स्टांप वेंडर व चालक के जरिए रिश्वत लेने वाले SDM अनिल जैन का सोशल मीडिया पर कथित ऑडियो वायरल हुआ है. इस बीच स्टांप वेंडर व चालक ने एसडीएम जैन के लिए रिश्वत लेना स्वीकार कर लिया है.

  • Share this:
रामदेवरा में अतिक्रमण नहीं हटाने के नाम पर एक लाख रुपए की रिश्वत लेने के मामले को लेकर चर्चा में आए पोकरण के उपखंड अधिकारी  (SDM) अनिल जैन का सोशल मीडिया पर कथित ऑडियो वायरल हुआ है. इसमें पैसे के लेनदेन को लेकर आरोप लग रहे हैं. हालांकि, news18 इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता है. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) जोधपुर की टीम ने 16 अगस्त की रात एसडीएम के नाम पर 45 हजार रुपए की रिश्वत लेते स्टांप वेंडर को रंगे हाथों गिरफ्तार किया था. इसी मामले में पूर्व में 55 हजार रुपए की रिश्वत की राशि लेने के आरोप में SDM के चालक को भी गिरफ्तार किया गया था. ACB की पूछताछ में स्टांप वेंडर व चालक ने SDM के लिए रिश्वत की राशि लेना स्वीकार किया है. सरकार ने जैन को एपीओ कर दिया है.

प्रतीकात्मक तस्वीर


गुस्से में फ्री में काम कर देने की बात कहते हैं  SDM अनिल जैन 
ऑडियो में किसी मामले को लेकर लेन-देन की बात चल रही है, मांग की गई राशि के अनुरूप पैकेट नहीं देने पर एसडीएम (SDM) अनिल जैन नाराजगी जताते हुए फ्री (Free) में उनका काम करने की बात कर रहे हैं तो सामने वाला व्यक्ति कम रुपए में मामला निपटाने की बात कर रहा है. यह ऑडियो सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है.

कार्मिक विभाग में उपस्थिति दर्ज करानी होगी SDM जैन को 
गौरतलब है कि पोकरण उपखण्ड अधिकारी को राज्य सरकार की ओर से पदस्थापन आदेशों की प्रतीक्षा में रखा गया है. राजस्थान सरकार के कार्मिक क-4 विभाग के संयुक्त सचिव आशीष मोदी ने सोमवार शाम इस संबंध में पत्र जारी किया है. उन्हें कार्मिक विभाग में उपस्थिति देनी होगी. गौरतलब है कि 16 अगस्त को उपखंड अधिकारी पोकरण के नाम रिश्वत लेने वाले एक व्यक्ति और एसडीएम के सरकारी वाहन चालक को एसडीएम के नाम पर रिश्वत लेने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. उन्होंने एसीबी को पूछताछ में बताया कि उनकी ओर से एसडीएम के लिए रिश्वत राशि ली जाती थी ऐसे में उनके विरुद्ध भी एसीबी में जांच चल रही है. इसी को लेकर सरकार की ओर से उन्हें एपीओ किया गया है.

ये भी पढ़ें- मुआवजा के बहाने प्रधान ने हड़पी आदिवासियों की 286 बीघा जमीन
Loading...

अलवर के भिवाड़ी में श्मशान घाट पर शव दफनाने के बाद तनाव

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जैसलमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 20, 2019, 12:12 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...