• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • Jaisalmer News: पश्चिमी राजस्थान के रामदेवरा और श्री तनोट राय माता मंदिर को है अनलॉक होने का इंतजार

Jaisalmer News: पश्चिमी राजस्थान के रामदेवरा और श्री तनोट राय माता मंदिर को है अनलॉक होने का इंतजार

भारत-पाकिस्तान की सीमा पर स्थित श्री तनोट राय माता मंदिर अभी तक खोला नहीं गया है.

भारत-पाकिस्तान की सीमा पर स्थित श्री तनोट राय माता मंदिर अभी तक खोला नहीं गया है.

Jaisalmer News : अनलॉक-3 में प्रदेश के धार्मिक स्थल खोले जाने के आदेश के बावजूद अभी तक पश्चिमी राजस्थान में स्थित आस्था के बड़े केन्द्र रामदेवरा (Ramdevra) स्थित रामदेव जी का समाधी स्थल, श्री तनोट राय माता मंदिर और चुंधी गणेश मंदिर नहीं खुल पाये हैं.

  • Share this:
    श्रीकांत व्यास

    जैसलमेर. राजस्थान सरकार ने अनलॉक 3.0 में जारी की गई गाइडलाइन में प्रदेश के सभी धार्मिक स्थलों (Religious places) और मंदिरों को सुबह 5 बजे से शाम 4 बजे तक खोलने के आदेश दे दिए गये हैं. लेकिन पश्चिमी राजस्थान में स्थित आस्था के सबसे बड़े स्थलों में शामिल बाबा रामदेव समाधि परिसर, श्री तनोट माता मंदिर (Shri Tanot Mata Temple) और चुंधी गणेश मंदिर अभी तक अनलॉक नहीं हो पाये हैं. सरकार के आदेशों के बावजूद जिला कलेक्टर की ओर से इन मंदिरों को 1 जुलाई के बाद प्लान बनाकर खोलने के निर्देश दिए गये हैं. व्यापारियों की निगाह इन दिनों बाबा रामदेव की समाधि सहित तनोट मंदिर के खुलने पर टिकी हुई है. इन मंदिरों से सैंकड़ों परिवारों की रोजी रोटी जुड़ी हुई है.

    राज्य सरकार की ओर से 28 जून से राज्य में धार्मिक स्थल को खोले जाने की अनुमति के बावजूद रामदेवरा में अभी समाधि परिसर और भारत-पाकिस्तान की सीमा पर स्थित तनोटराय माता मंदिर अभी तक खोला नहीं गया है. इसके कारण स्थानीय दुकानदारों में उदासी का माहौल है. प्रदेश के अन्य धार्मिक स्थलों के साथ लॉक हुये ये मंदिर अभी भी अनलॉक होने का इंतजार कर रहे हैं. व्यापारियों ने जिला कलेक्टर से मांग की है कि जल्द से जल्द मंदिर खोले जायें ताकि उनका रोजगार फिर से शुरू हो सके.

    सरकारी गाइडलाइन के अनुसार कर ली गई हैं पूरी तैयारियां
    रामदेव मंदिर और तनोटराय माता मंदिर में सरकारी गाइडलाइन के अनुसार सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. रामदेवरा में समाधि स्थल और उसके आसपास के संपूर्ण परिसर को सेनेटाइज किया गया है. वहीं दो व्यक्तियों के बीच कम से कम 6 फीट की दूरी हो इसके लिए जगह-जगह अलग स्थानों पर गोल घेरे भी बनाए गए हैं. इसके अलावा तापमान मापने के लिए मशीन व अन्य उपकरण भी जांचकर तैयार कर लिए गए हैं. रामदेवरा में स्थानीय समाधि समिति को अब जिला कलेक्टर के आदेश का इंतजार है. व्यापारियों का कहना है कि सरकार के आदेश बाद उम्मीद जगी थी कि उनका रोजगार अब शुरू हो जायेगा। लेकिन स्थानीय प्रशासन की सख्ती के कारण वे अभी इससे महरूम हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन