अपना शहर चुनें

States

सनसनीखेज खुलासा: पति से परेशान थी पत्नी, एक लाख की सुपारी देकर मरवा डाला

पुलिस ने हत्‍या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. (फोटो : न्यूज 18 राजस्थान)
पुलिस ने हत्‍या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. (फोटो : न्यूज 18 राजस्थान)

जैसलमेर पुलिस (Jaisalmer police) ने तीन दिन पहले हुए खेताराम मेघवाल के ब्लांइड मर्डर केस (Blind murder case of Khetaram Meghwal) का खुलासा कर उसकी पत्नी और दो अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
जैसलमेर पुलिस (Jaisalmer police) ने लाठी पुलिस थाना इलाके में तीन दिन पहले हुए खेताराम मेघवाल के ब्लांइड मर्डर केस (Blind murder case of Khetaram Meghwal) का खुलासा कर उसकी पत्नी और दो अन्य आरोपियों (three accused arrested including wife) को गिरफ्तार किया है. खेताराम की पत्नी ने ही एक लाख रुपए की सुपारी देकर उसकी हत्या करवाई थी. बाद में पुलिस को गुमराह करने के लिए उसने खुद ही पति की हत्या का पुलिस में मामला दर्ज करा दिया.

गुमराह करने के लिए दर्ज कराया मामला
पुलिस के अनुसार, खेताराम की गत 14 अगस्त की रात सिर में वारकर दी गई थी. इस संबंध में खेताराम की पत्नी रूपा देवी ने पुलिस में मामला दर्ज कराया था. अपनी रिपोर्ट में उसने बताया कि खेताराम को 14 अगस्त की रात को अज्ञात लोग उठाकर ओढाणियां गांव के पश्चिम की तरफ ओरण में ले गए. वहां उसके सिर पर हमला कर हत्या कर दी. फिर लाश को सड़क किनारे छोड़ दिया.

20 हजार रुपए एडवांस दिए थे
पुलिस ने मामले में जांच-पड़ताल की तो चौंकाने वाला खुलासा आया. पूछताछ में सामने आया कि रूपा देवी अपने पति खेताराम से परेशान थी. इसलिए उसने खेताराम को ठिकाने लगाने के लिए अपने ही गांव ओढाणियां निवासी मदन मेघवाल को 1 लाख रुपए की सुपारी दी थी. रूपा देवी ने पति की हत्या का सौदा कर मदन मेघवाल को 20 हजार रुपए एडवांस दिए थे.



मदन ने कबूली हत्या की वारदात
इस पर पुलिस ने मदन को दबोचकर उससे पूछताछ की तो उसने अपने दो अन्य साथियों सनावडा निवासी हेमाराम और मोटूराम मेघवाल के साथ मिलकर खेताराम हत्या करना स्वीकार कर लिया. इस पर पुलिस ने मदन, हेमाराम और रूपा देवी को गिरफ्तार कर लिया. मोटूराम की तलाश जारी है.

मदन भी खेताराम से रंजिश रखता था
पूछताछ में सामने आया कि करीब 9-10 माह पूर्व खेताराम ने मदन के खिलाफ केस दर्ज किया था, तब पुलिस ने मदन को धारा 151 गिरफ्तार उसे जेल बंद किया था. इस कारण मदन खेताराम से नाराज था. खेताराम शराब के नशे में परिवार के साथ मारपीट करता था. रूपा देवी पति से आए दिन होने वाले झगड़ों से परेशान थी और मदन उससे बदला लेना चाहता था. लिहाजा दोनों ने मिलकर हत्‍या की साजिश रच डाली. रूपा देवी द्वारा दी गई सुपारी के बाद मदन ने अपने साथियों के साथ मिलकर खेताराम की हत्या कर दी.

सुर्खियां: तीर्थनगरी पुष्कर के 52 घाट डूबे, पहलू पर सियासत

दाैसा: 21 साल बाद ओवर-फ्लो हुआ मोरेल बांध, हाई अलर्ट जारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज