थार रेगिस्तान में 'नाग' का सफल परीक्षण, फायर एंड फॉरगेट एंटी टैंक मिसाइल की ये हैं खूबियां

थार के रेगिस्तान जैसलमेर में एंटी टैंक मिसाइल नाग के उन्नत वर्जन का परीक्षण किया गया है. रात और सुबह किए गए मिसाइल के सभी परीक्षण एकदम सटीक रहे. इस मिसाइल की सटीकता इतनी है कि इसे फायर एंड फॉरगेट कहा जाने लगा है.

Sikandar Sheikh | News18 Rajasthan
Updated: July 9, 2019, 6:47 PM IST
थार रेगिस्तान में 'नाग' का सफल परीक्षण, फायर एंड फॉरगेट एंटी टैंक मिसाइल की ये हैं खूबियां
एंटी टैंक मिसाइल नाग का सफल परीक्षण। फाइल फोटो
Sikandar Sheikh | News18 Rajasthan
Updated: July 9, 2019, 6:47 PM IST
थार के रेगिस्तान जैसलमेर में एंटी टैंक मिसाइल 'नाग' के उन्नत वर्जन का परीक्षण किया गया है. रात और सुबह किए गए मिसाइल के सभी परीक्षण एकदम सटीक रहे. डीआरडीओ की ओर से विकसित और भारत डॉयनामिक्स लिमिटेड की तरफ से निर्मित नाग मिसाइल सेना की ओर से तय मापदंडों पर एकदम खरी उतरी है.

उन्नत वर्जन में इंफ्रारेड सिस्टम लगाया गया है
सैन्य सूत्रों का कहना है कि वैज्ञानिकों की उपस्थिति में सेना ने एंटी टैंक मिसाइल नाग की मारक क्षमता जांची. इस क्षेत्र में अलग-अलग मौसम में नाग मिसाइल के परीक्षण पूर्व में भी किए जा चुके हैं. रक्षा मंत्रालय नाग मिसाइल को सेना के लिए खरीदने का ऑर्डर पहले ही दे चुका है. नाग मिसाइल के उन्नत वर्जन में इंफ्रारेड सिस्टम लगाया गया है. इसकी मदद से यह मिसाइल अब अपने लक्ष्य को आसानी से पहचान सकती है. इस मिसाइल की सटीकता इतनी है कि इसे फायर एंड फॉरगेट कहा जाने लगा है.

ये हैं नाग मिसाइल की खूबियां

- 500 मीटर से 5 किलोमीटर तक मारक क्षमता वाली यह मिसाइल एक बार में आठ किलोग्राम वारहेड लेकर जाती है.
- 42 किलोग्राम वजन वाली नाग मिसाइल 1.90 मीटर लम्बी है.
- यह 230 मीटर प्रति सेकंड की रफ्तार से अपने लक्ष्य पर प्रहार करती है.
Loading...

- नाग मिसाइल दागने वाले कैरियर को नेमिका कहा जाता है.
- ऊंचाई पर जाकर यह टैंक के ऊपर से हमला करती है.
- यह मिसाइल फायर एंड फॉरगेट सिस्टम पर काम करती है.
- नाग मिसाइल किसी भी टैंक को ध्वस्त करने में सक्षम मानी जाती है.
- नाग मिसाइल की खासियत यह है कि यह उड़ान भरने के बाद अपने ऑपरेटर के पास पूरे क्षेत्र के फोटो भी भेजती रहती है.
- इससे ऑपरेटर को क्षेत्र में मौजूद दुश्मन के टैंकों की सटीक संख्या पता चल जाती है.
- इसके आधार पर वह अन्य मिसाइल दाग उन्हें नष्ट कर सकता है.
- सतह से सतह पर मार करने वाली नाग मिसाइल का हवा से जमीन पर मार करने वाला हेलिना वर्जन भी है.
- उसे हेलीकॉप्टर से दागा जाता है.
- हेलिना की रेंज 10 किलोमीटर है.

टैंक को तबाह करने में कारगर है नाग मिसाइल
रणक्षेत्र में सैनिक शत्रु के टैंक को देखने के बाद उन्हें तबाह करने के लिए नाग मिसाइल दागते हैं. इसलिए इसकी रेंज कम रखी गई है. टैंक की ऊपरी सतह उसके अन्य हिस्सों की अपेक्षा कमजोर होती है. ऐसे में यह ऊपर से हमला बोल टैंक की ऊपरी सतह में छेद करके उसके अंदर जाकर विस्फोट करती है.

यह भी पढ़ें- चार साल की मासूम से पड़ोसी ने किया था रेप, आरोपी को उम्रकैद

पुलिस हिरासत में युवक की मौत, SHO समेत 8 पुलिसकर्मी सस्पेंड

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जैसलमेर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2019, 6:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...