अपना शहर चुनें

States

नर्मदा के पानी के लिए कांग्रेसी करेंगे 400 किलोमीटर की पदयात्रा

पूर्व उपमुख्य सचेतक रतन देवासी

फोटो-ईटीवी
पूर्व उपमुख्य सचेतक रतन देवासी फोटो-ईटीवी

जालौर के सांचौर में नर्मदा जल प्रोजेक्ट दो साल की देरी से चल रहा है. देरी के कारण अब तक गांवों में इसका पानी नहीं पहुंचा.इसी के विरोध में पूर्व उपमुख्य सचेतक रतन देवासी 400 किलोमीटर की पदयात्रा करेंगे.

  • Share this:
 

राजस्थान में विधानसभा चुनावों का समय जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है वैसै-वैसे ही कांग्रेसी नेता अपने क्षेत्रों में सक्रिय होते जा रहे हैं.इसी क्रम में पिछली कांग्रेस सरकार में उपमुख्य सचेतक रह चुके रानीवाड़ा (जालोर) के पूर्व विधायक रतन देवासी भी सक्रिय हो गए हैं.

उन्होंने सोमवार को प्रेसवार्ता कर कहा कि क्षेत्र में नर्मदा प्रोजेक्ट दो साल की देरी से चल रहा है. जिससे अब तक गांवों में इसका पानी नहीं पहुंचा.इसी के विरोध में कुछ दिनों बाद क्षेत्र में 400 किलोमीटर की पदयात्रा निकालकर लोगों को सरकार की नाकामी के बारे में बताया जाएगा.



रतन देवासी ने कहा रानीवाड़ा विधानसभा क्षेत्र के लोगों की पेयजल उपलब्ध कराने के लिए  2012 में स्वीकृत डीआर नर्मदा परियोजना बंद सी पड़ी प्रतीत हो रही है.वर्ष 2013 में इसका शिलान्यास भी तत्कालीन मुख्यमंत्री गहलोत ने सांचौर में किया था.
दोनों मुख्य लाइन व कलस्टर के कार्य के लिए कांग्रेस सरकार ने परियोजना के लिए पूरा बजट जारी कर दिया था.उस समय प्रोजेक्ट के लिए करीब 400 करोड़ रुपए स्वीकृत हुए थे.कांग्रेस सरकार समय इस प्रोजेक्ट का काम तेज गति से चल रहा था.

रतन देवासी ने कहा कि अगर इस कार्य निरंतर चलता रहता तो नर्मदा की मुख्य लाइन से 2015 तक और हर ढाणी में कलस्टर योेजना के माध्यम से वर्ष 2016 में पानी आ जाना चाहिए था. 450 करोड़ की यह नर्मदा परियोजना दो साल के विलम्ब से चल रही है.

परियोजन में देरी का विरोध दर्ज कराने के लिए कांग्रेस शीघ्र ही पदयात्रा का आयोजन करेगी.चार सौ किलोमीटर की यह पदयात्रा विभिन्न चरणों में सांचौर क्षेत्र के सभी गांवों को कवर करेगी.गौरतलब है कि नर्मदा प्रोजेक्ट को लेकर रतन देवासी ने कुछ माह पूर्व 51 घंटे का अनशन भी किया था.

(हरिपाल सिंह की रिपोर्ट)

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज