Home /News /rajasthan /

jalore dalit student death case victim father says my son beaten up mercilessly admitted to udaipur for a week before death nodps

Jalore Student Death: एक हफ्ते तक उदयपुर में भर्ती रहा था इंद्र कुमार, पिता देवराम मेघवाल ने बताई पूरी कहानी

जालोर पुलिस ने आरोपी शिक्षक छैल सिंह को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है.

जालोर पुलिस ने आरोपी शिक्षक छैल सिंह को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है.

Jalore Student Death Case: जालोर के निजी स्कूल में दलित छात्र इंद्र कुमार की मौत के बाद मामला गर्मा रहा है. मामले को बढ़ता देख प्रशासन ने जालोर में 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है. साथ ही इंद्र कुमार के गांव में भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई है. इसी दौरान ग्रामीणों और पुलिसकर्मियों के बीच झड़प की भी खबर सामने आई है. इंद्र कुमार के पिता ने बताया कि अध्यापक की पिटाई से बालक के चेहरे और कान में चोटें आईं और वह लगभग बेहोश हो गया.घायल बालक को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे उदयपुर के अस्पताल में रेफर कर दिया गया. यहां इंद्र करीब 1 सप्ताह तक भर्ती रहा. इसके बाद उसे अहमदाबाद ले जाया गया. जहां शनिवार को उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया.

अधिक पढ़ें ...

जयपुर. जालोर के निजी स्कूल में पीने के बर्तन को छूने के कारण अध्यापक द्वारा दलित बच्चे को कथित तौर पर पीटने से मौत का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. दलित छात्र इंद्र कुमार की शनिवार को मौत हो गई थी. इस मामले को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का भी ट्वीट आ गया है. वहीं दलित छात्र इंद्र कुमार के पिता ने भी गंभीर आरोप लगाए हैं. मामले को तूल पकड़ते देख प्रशासन ने जालोर में इंटरनेट को 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है. साथ ही दलित छात्र इंद्र कुमार के गांव में भारी संख्या में पुलिसबल भी तैनात है. पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प की भी खबर सामने आई है.

Internet shut down in Jalore, heavy police force deployed in Sayla town and Surana village, Jalore Student Death Case,

जालोर पुलिस ने आरोपी शिक्षक छैल सिंह को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है और उस पर हत्या और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है.

इंद्र कुमार के पिता ने बताया कि अध्यापक की पिटाई से बालक के चेहरे और कान में चोटें आईं और वह लगभग बेहोश हो गया.घायल बालक को जिला अस्पताल ले जाया गया, जहां से उसे उदयपुर के अस्पताल में रेफर कर दिया गया. दलित बालक के पिता देवराम मेघवाल ने बताया कि वह लगभग एक सप्ताह तक उदयपुर के अस्पताल में भर्ती रहा. इलाज के बाद भी कोई सुधार नहीं होने पर उसे अहमदाबाद ले जाया गया. लेकिन वहां भी कोई फायदा नहीं मिला और आखिरकार इंद्र ने शनिवार को अस्पताल में ही दम तोड़ दिया.

अध्यापक ने कथित तौर पर पीने के पानी के बर्तन को छूने पर पीटा
दलित छात्र को स्कूल के एक अध्यापक ने कथित तौर पर पीने के पानी के बर्तन को छूने पर पीट दिया था. जिसके बाद उसकी मौत हो गई. आरोपी अध्यापक छैलसिंह (40) को गिरफ्तार कर लिया गया है. जालोर पुलिस ने आरोपी शिक्षक छैल सिंह को पहले ही गिरफ्तार कर लिया है और उस पर हत्या और अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति (अत्याचार निवारण) अधिनियम की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है. जालोर के सायला थाना क्षेत्र के सुराणा गांव के निजी स्कूल के छात्र इंद्र मेघवाल की 20 जुलाई को अध्यापक ने पिटाई की थी.

Internet shut down in Jalore, heavy police force deployed in Sayla town and Surana village, Jalore Student Death Case,

मामले को तूल पकड़ते देख प्रशासन ने जालोर में इंटरनेट को 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है. साथ ही दलित छात्र इंद्र कुमार के गांव में भारी संख्या में पुलिसबल भी तैनात है. पुलिस और ग्रामीणों के बीच झड़प की भी खबर सामने आई है.

उसकी शनिवार को अहमदाबाद के एक अस्पताल में मौत हो गई. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि मामले की त्वरित जांच के लिए इसे ‘केस ऑफिसर स्कीम’ में लिया जाएगा. उन्होंने शनिवार रात मुख्यमंत्री राहत कोष से बालक के परिवार को पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायत देने की भी घोषणा की. गहलोत ने ट्वीट कर कहा “जालौर के सायला थाना क्षेत्र में एक निजी स्कूल में शिक्षक की मारपीट के कारण छात्र की मृत्यु दुखद है. आरोपी शिक्षक के विरुद्ध हत्या और एसी/एसटी अधिनियम की धाराओं में मामला दर्ज कर गिरफ्तारी की जा चुकी है.’

Internet shut down in Jalore, heavy police force deployed in Sayla town and Surana village, Jalore Student Death Case,

जालोर पुलिस अधीक्षक हर्षवर्धन अग्रवाला ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि बालक को बेरहमी से पीटा गया था. पीटने का कारण पीने के पानी के बर्तन को छूना बताया जा रहा है. इसकी जांच की जानी है.

पीड़ित परिवार को जल्द मिलेगा न्याय: सीएम

मुख्यमंत्री ने कहा कि मामले की त्वरित जांच एवं दोषी को जल्द सजा के लिए इसे ‘केस ऑफिसर स्कीम’ में लिया गया है. पीड़ित परिवार को जल्द से जल्द न्याय दिलवाना सुनिश्चित किया जाएगा.मृतक के परिजनों को पांच लाख रुपये सहायता राशि मुख्यमंत्री सहायता कोष से दी जाएगी. राज्य के शिक्षा विभाग ने मामले की जांच शुरू कर दी है. जालोर पुलिस अधीक्षक हर्षवर्धन अग्रवाला ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि बालक को बेरहमी से पीटा गया था.

पीटने का कारण पीने के पानी के बर्तन को छूना बताया जा रहा है. इसकी जांच की जानी है. पुलिस अधिकारी ने कहा कि अध्यापक छैल सिंह के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 302 और एससी/एसटी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया है और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है. मामले में आगे की जांच की जा रही है.

Internet shut down in Jalore, heavy police force deployed in Sayla town and Surana village, Jalore Student Death Case,

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि मामले की त्वरित जांच के लिए इसे ‘केस ऑफिसर स्कीम’ में लिया जाएगा. उन्होंने शनिवार रात मुख्यमंत्री राहत कोष से बालक के परिवार को पांच लाख रुपये की आर्थिक सहायत देने की भी घोषणा की.

Tags: Rajasthan news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर