Home /News /rajasthan /

प्यास से मासूम की मौत, घिरी गहलोत सरकार; बीजेपी ने पूछा- अब चुप क्यों हैं राहुल-प्रियंका?

प्यास से मासूम की मौत, घिरी गहलोत सरकार; बीजेपी ने पूछा- अब चुप क्यों हैं राहुल-प्रियंका?


बच्ची अंजलि का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने दावा किया कि मौत की वजह लंबे समय से पानी नहीं मिलना है.

बच्ची अंजलि का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने दावा किया कि मौत की वजह लंबे समय से पानी नहीं मिलना है.

जालोर के राजकीय अस्पताल में पांच साल की अंजली की मौत हो गई. अंजली की मौत वजह बना पानी. लंबे समय तक पानी नहीं मिलने से मासूम के शरीर में पानी की कमी हो गई. अंजली की नानी सुखीदेवी पानी न मिलने से बेहोश हो गई. सुखी देवी का अस्पताल में इलाज चल रहा है. अब इस मामले में राजनीति भी शुरू हो गई है.

अधिक पढ़ें ...
जालोर. यकीन करना मुश्किल लेकिन ये डरावाना सच है. राजस्थान के जालोर में एक पांच साल की बच्ची की भीषण गर्मी में 20 किलोमीटर पैदल चलने के बाद पानी नहीं मिलने से मौत हो गई. बच्ची की नानी सुखी देवी भी प्यास से बेहोश होकर गिर गई थी. उसका जालोर के अस्पताल में इलाज जारी है. डॉक्टरों का कहना है कि थोड़ी देर करते तो सुखी देवी की भी मौत हो जाती है. बच्ची अंजलि का पोस्टमार्टम करने वाले डॉक्टरों ने दावा कि मौत की वजह लंबे समय से पानी नहीं मिलने से डिहाईड्रेशन हुआ जिससे मौत हो गई. प्यास की वजह से मौत के मामले में गहलोत सरकार घिर गई है. बीजेपी ने इस मुद्दे पर जमकर हमला बोला. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि इसके लिए राजस्थान सरकार ज़िम्मेदार है.

जावड़ेकर ने ट्वीट में लिखा, "9 घंटे तक पीने का पानी न मिलने के कारण हुई एक बच्ची की मृत्यु, बेहद शर्मनाक घटना है. इसके लिए राजस्थान सरकार ज़िम्मेदार है. सोनिया, राहुल, प्रियंका अब चुप क्यों हैं?'

बीजेपी प्रवक्ता राज्यवर्धन राठौर ने अपने एक ट्वीट में कहा, "लगातार 9 घंटे तक पीने का पानी नहीं मिला. 6 साल की बच्ची, राजस्थान सरकार की लापरवाही की भेंट चढ़ गई. एक ओर केंद्र सरकार, ‘हर घर जल’ के अंतर्गत, हजारों करोड़ रुपये स्वीकृत कर रही है, वहीं राजस्थान कांग्रेस सरकार पेयजल योजनाओं के क्रियान्वन में फिसड्डी साबित हुई है."

गौरतलब है कि सुखी देवी अपने पीहर पाली के रायपुर से जालोर के रानीवाड़ा के लिए दोहिती अंजली को लेकर निकली लेकिन राजस्थान कोरोना कर्फ्यू के चलते वाहन बंद हैं. ऐसे में रेत के धोरों के रास्ते से पैदल ही निकल पड़ी. पांच साल की मासूम अंजलि रेत के धोरों के शॉट कट रास्ते से नानी दोहती को लेकर करीब 20 किलोमीटर से अधिक पैदल चली लेकिन रास्ते में पानी नहीं मिला. भीषण गर्मी थी, ऊपर से तपते रेत के धोरे. रोड़ा गांव में नानी और दोहती दोनों बेहोश होकर गिर गई. स्थानीय लोगों की सूचना के बाद पुलिस पहुंची. दोनों को अस्पताल ले जाया गया लेकिन अंजली की मौत हो गई. नानी सुखीदेवी का इलाज जारी है.

Tags: Ashok gehlot, Jaipur news, Prakash Javadekar, Rajasthan news, Rajyavardhan Rathore

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर