अपना शहर चुनें

States

झालावाड़: भीमसागर बांध का माइनर ओवरफ्लो होने से 148 एकड़ खेत हुए जलमग्न, फसल बर्बाद होने की चिंता से कराह उठे किसान

खेतों में पानी भर जाने से कई गांवों के किसान अपनी फसलों को लेकर चिंतित हैं.
खेतों में पानी भर जाने से कई गांवों के किसान अपनी फसलों को लेकर चिंतित हैं.

भीमसागर बांध (Bhimsagar Dam) की दाईं नहर के टेल पर माहिरा और पखराना माइनर के बीच काम अधूरा छोड़ दिया गया है. इसी का नतीजा है कि कई जगहों से पानी ओवरफ्लो हो रहा है.

  • Share this:
झालावाड़. राजस्थान के झालावाड़ जिले के खानपुर उपखंड क्षेत्र में भीमसागर बांध (Bhimsagar Dam) का पखराना माइनर ओवरफ्लो हो गया. इसके कारण आसपास के गांवों के करीब 148 एकड़ खेत जलमग्न (Flood) हो गए. बागोंद, पखराना, माहिरा सहित अन्य गांवों में खेतों में पानी भर गया. इससे गेहूं सहित अन्य फसलें जलमग्न हो गईं. किसानों (Farmers) को अब अपनी फसलों की चिंता सता रही है.

दरअसल भीमसागर बांध की नहरों का हाल में 40 करोड़ की लागत से जीर्णोद्धार किया गया है. लेकिन नहरों में ओवरफ्लो होने की समस्याएं सामने आने लगी हैं. कई बार नहरें ओवरफ्लो हो चुकी हैं. बांध की दाईं नहर के टेल पर माहिरा और पखराना माइनर के बीच काम अधूरा छोड़ दिया गया है. इसी का नतीजा है कि कई जगहों से पानी ओवरफ्लो हो रहा है. ओवरफ्लो होने से कई एकड़ फसलें जलमग्न हो गई हैं. इससे उन्हें फसलें गलने की चिंता सताने लगी है.

जानकारी के अनुसार भीमसागर बांध की नहरों में गत 4 नवंबर को पानी छोड़ा गया था. नहरों की मरम्मत के लिए जापान के सहयोग से 42 किलोमीटर नहरों व 110 किलोमीटर माइनरों की मरम्मत होनी थी, लेकिन कंपनी ने माइनर के काम को अधूरा छोड़ दिया है. इसी के चलते खेतों में पानी भर रहा है. इस वक्त पखराना माइनर का निर्माणकार्य चल रहा है. इसी दौरान माइनर की टेल तक खुदाई नहीं होने से पानी ओवरफ्लो होकर खेतों में भर गया.



जल संसाधन विभाग अब इस समस्या के लिए निर्माण कंपनी को जिम्मेदार ठहरा रहा है. उधर निर्माण कंपनी नहर में अधिक पानी छोड़ने की बात कह कर पल्ला झाड़ रहा है. इन सबके बीच नुकसान किसानों को हो रहा है, जिनकी फसलें बर्बादी के कगार पर हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज