लाइव टीवी

पुलिस पर युवक को घर में घुसकर पीटने का लगा आरोप, पीड़ित परिवार ने DSP से की शिकायत

News18 Rajasthan
Updated: January 27, 2020, 2:00 PM IST
पुलिस पर युवक को घर में घुसकर पीटने का लगा आरोप, पीड़ित परिवार ने DSP से की शिकायत
पीड़ित युवक का अकलेरा चिकित्सालय में उपचार चल किया जा रहा है.

घाटोली थानाधिकारी (Police Station Incharge) व पुलिसकर्मियों पर रात के समय एक घर में घुसकर घर में मौजूद युवक की जमकर पिटाई (Police beat young man) करने का आरोप लगा है. इस दौरान बीच-बचाव के लिए आए परिवार के अन्य सदस्यों व पड़ोसियों को भी पुलिस ने धमका कर मौके से भगा दिया. दूसरी तरफ पुलिस ने युवक को पीटने से इंकार किया है.

  • Share this:
झालावाड़. जिले के घाटोली कस्बे में पुलिसकर्मियों द्वारा ज्यादती किए जाने का मामला सामना आया है. बताया जा रहा है कि घाटोली थानाधिकारी व पुलिसकर्मियों ने रात के समय एक घर में घुसकर घर में मौजूद युवक की जमकर पिटाई (Police beat young man) की. इतना ही नहीं युवक की पत्नी का मुंह दबाकर उसे भी पीटा. इस दौरान बीच-बचाव के लिए आए परिवार के अन्य सदस्यों व पड़ोसियों को भी पुलिस ने धमका कर मौके से भगा दिया. दूसरी तरफ पुलिस ने युवक को पीटने से इंकार किया है. घाटोली थानाधिकारी नैनूराम ने बताया कि युवक हेमंत कस्बे में तेज गति से गाड़ी चलाता (High speed driving) है, जिससे कोई भी हादसे (Accident) का शिकार हो सकता है. ऐसे में ग्रामीणों की शिकायत (Villagers complain) के बाद उसे समझाने के लिए उसके घर पर पुलिस गई थी, लेकिन उसकी पत्नी रास्ता रोककर खड़ी हो गई. ऐसे में पुलिस लौट आई और अब युवक के खिलाफ खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी.

युवक को पैरों में लगी गंभीर चोटें

घटना के बारे में पीड़ित परिवार के लोगों ने बताया कि देर रात घाटोली थाना अधिकारी नैनूराम और हेड कांस्टेबल दारासिंह पुलिस के जवानों के साथ उसके घर पर पहुंचे और खाना खा रहे युवक हेमंत की लाठी डंडे से जमकर पिटाई की. इस दौरान उसकी पत्नी व पिता को भी पुलिसकर्मियों ने नहीं बख्शा. लातों घूंसों से पिटाई करते हुए उनके कपड़े तक खींच डाले. पुलिसकर्मियों द्वारा की गई मारपीट से युवक हेमंत के पैरों में गंभीर चोटें आई हैं. अकलेरा चिकित्सालय में उसका उपचार किया जा रहा है.

पड़ोसियों को पुलिसकर्मियों ने डरा धमका कर भगा दिया

बताया जा रहा है कि पुलिसकर्मियों द्वारा की जा रही पिटाई के दौरान आसपास के पड़ोसी भी एकत्रित हुए, जिन्हें पुलिसकर्मियों ने डरा धमका कर भगा दिया. हालांकि कुछ लोगों ने बीच-बचाव कर महिला सुनीता बाई को किसी तरह पुलिसकर्मियों से छुड़ा लिया.

पड़ोसियों ने कहा कि पुलिसकर्मियों ने उन्हें डरा धमका कर भगा दिया.


पुलिस पर लातों और घूंसों से पीटापीड़ित युवक हेमंत तंवर ने बताया कि उसने पुलिसकर्मियों के सामने हाथ जोडे, लेकिन उन्होंने यह भी नहीं बताया कि आखिर उसे क्यों पीट रहे हैं. परिवार की महिला ने भी पुलिसकर्मियों की मारपीट के दौरान लगे नाखूनों के निशान अपने शरीर पर बताते हुए कहा कि मारपीट के दौरान कोई महिला पुलिसकर्मी भी साथ मौजूद नहीं थी. ऐसे में पुरुष पुलिसकर्मियों ने उससे अभद्रता करते हुए लातों घूंसों से मारपीट की.

पीड़ित परिवार ने थानाधिकारी नैनू राम व अन्य पुलिसकर्मियों के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई किए जाने के लिए अकलेरा डीएसपी को परिवाद दिया है. ऐसे में यदि पीड़ित परिवार की बातों पर विश्वास किया जाए तो देखना होगा कि आरोपी पुलिसकर्मियों व थानेदार के खिलाफ पुलिस के आलाधिकारी क्या कार्रवाई करते हैं.

(झालावाड़ से तरुण की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - जयपुर: कोरोना वायरस संदिग्ध एसएमएस में भर्ती, सेम्पल जांच के लिए पुणे भेजा

ये भी पढ़ें - दौसा: पुलिस के खौफ से भाग रहा युवक कुएं में गिरा, अस्पताल में इलाज जारी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झालावाड़ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 27, 2020, 2:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर