• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • राजस्थान के झालावाड़ में जबर्दस्त बारिश, छोटी काली सिंध, परवन और चंवली नदी उफान पर, 100 से अधिक जायरिन फंसे

राजस्थान के झालावाड़ में जबर्दस्त बारिश, छोटी काली सिंध, परवन और चंवली नदी उफान पर, 100 से अधिक जायरिन फंसे

प्रशासन ने नदी के तटों के पास रहने वाले ग्रामीणों को अलर्ट किया है.

प्रशासन ने नदी के तटों के पास रहने वाले ग्रामीणों को अलर्ट किया है.

Heavy Rain in Jhalawar: मध्य प्रदेश के मालवा अंचल और झालावाड़ जिले में हुई तेज बारिश के कारण इस इलाके में स्थित नदी-नाले उफान मारने लगे हैं. नदियों में पानी की भारी आवक देखते हुए काली सिंध बांध के 3 गेट खोलकर 25 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है.

  • Share this:
झालावाड़. मध्य प्रदेश से सटे राजस्थान के झालावाड़ जिले में जबर्दस्त बारिश (Heavy rain) ने लोगों की सांसें फुला दी हैं. एक तरफ जहां मध्य प्रदेश के मालवा अंचल में हो रही बारिश के कारण जिले के नदी-नालों में उफान आ रहा है, वहीं अब झालावाड़ जिले में हो रही बारिश से लोगों की मुसिबतें बढ़ने लगी हैं. काली सिंध नदी (Kali Sindh River) में लगातार जलस्तर बढ़ने से काली सिंध बांध के 3 गेट खोलकर 25 हजार क्यूसेक पानी की निकासी की जा रही है. आहू नदी के जलस्तर में भी बढ़ोतरी होने से गागरीन बांध पर भी चादर चल चुकी है. बारिश के चलते ग्रामीण क्षेत्रों के कई छोटे-बड़े मार्ग बाधित हो गए हैं.

झालावाड़ में मंगलवार सुबह से झमाझम बारिश का दौर जारी है. मध्य प्रदेश की नदियों का पानी झालावाड़ जिले में पहुंचने से जिले की काली सिंध, आहू, छोटी काली सिंध, परवन और चंवली नदी उफान पर है. पिड़ावा इलाके की चंवली नदी में उफान आने से चंवली बांध भी जल्द छलकने की कगार पर है. प्रशासन ने नदी के तटों के पास रहने वाले ग्रामीणों को अलर्ट किया है.

कई रास्‍ते बाधित
तेज बारिश के कारण मनोहरथाना-दांगीपुरा, आवर-पगारिया, कामखेड़ा-हरनावदा और चौमहला से रावतपुरा मार्ग बाधित हो गया है. मानसून के लंबे इंतजार के बाद जिलेभर में हो रही झमाझम बारिश से जहां किसानों के चेहरे खिल गए हैं तो वहीं जलाशयों में भी पानी की अच्छी खासी आवक हुई है, लेकिन नदी नाले उफनने और रास्ते बाधित होने से ग्रामीण चिंतित भी हो रहे हैं.

पिड़ावा में 611 और डग में 509 एमएम बारिश
झालावाड़ जिले में बारिश का औसत करीब 1 हजार एमएम है. इस सीजन में अब तक 290 एमएम बारिश दर्ज की जा चुकी है. इसमें पिड़ावा में 611 एमएम, डग में 509, झालावाड़ में 126 और झालरापाटन में 108 एमएम बारिश दर्ज की गई है. मंगलवार सुबह तक बीते पिछले 24 घंटों की बात करें तो जिले के गंगधार इलाके में सबसे ज्यादा 111 एमएम बारिश दर्ज की गई है. मनोहरथाना में 79 एमएम, झालावाड़ में 65 और बकानी में 73 एमएम बारिश दर्ज की गई है.

करीब 100 से अधिक जायरीन फंसे
आहू नदी में उफान आने से जिले की गागरोन दरगाह पर जियारत और किले में घूमने के लिए गए करीब 100 से अधिक जायरीन सोमवार से शाम से ही वहां अटके हुए हैं. जायरीनों के दरगाह में अटकने की खबर मिलने के बाद जिला प्रशासन और दरगाह खादिमान कमेटी ने जायरीनों के दरगाह परिसर में ही रुकने व खाने की व्यवस्था की है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज