लाइव टीवी

विधानसभा उपचुनाव: झुंझुनूं BJP में बड़ा उलटफेर, सुशीला सींगड़ा पर खेला दांव

Imtiyaz Bhati | News18 Rajasthan
Updated: September 29, 2019, 3:27 PM IST
विधानसभा उपचुनाव: झुंझुनूं BJP में बड़ा उलटफेर, सुशीला सींगड़ा पर खेला दांव
सुशीला सींगड़ा को बीजेपी ज्वॉइन करवाने के दौरान सांसद नरेन्द्र खीचड़ समेत अन्य बीजेपी पदाधिकारी भी मौजूद थे. फोटो : न्यूज 18 राजस्थान ।

विधानसभा उपचुनाव (Assembly by-election) से पहले झुंझुनूं बीजेपी (Jhunjhunu BJP) की राजनीति में बड़ा उलटफेर (Big change) हो गया है. रविवार को हुए सियासी घटनाक्रम के तहत बीजेपी ने यहां मंडावा (Mandawa) विधानसभा सीट से पंचायत समिति की प्रधान सुशीला सींगड़ा (Susheela singra) को उतारने की घोषणा कर दी है.

  • Share this:
झुंझुनूं. विधानसभा उपचुनाव (Assembly by-election) से पहले बीजेपी (Jhunjhunu BJP) की राजनीति में बड़ा उलटफेर (Big change) हुआ है. रविवार को हुए सियासी घटनाक्रम के तहत बीजेपी ने यहां मंडावा (Mandawa) विधानसभा सीट पर होने वाले उपचुनाव के लिए झुंझुनूं पंचायत समिति की प्रधान सुशीला सींगड़ा (Susheela singra) को मैदान में उतारने की घोषणा कर दी है. घोषणा के पहले सुशीला सींगड़ा को आनन-फानन में उपनेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़ (Rajendra Rathore) की उपस्थिति में बीजेपी ज्वॉइन (BJP Join) करवाया गया. उसके बाद मंडावा सीट के लिए सुशीला सींगड़ा को प्रत्याशी घोषित कर दिया गया. सुशीला सींगड़ा सोमवार को नामांकन-पत्र दाखिल करेंगी.

सियासी उलटफेर से झुंझुनूं से बीजेपी सांसद नरेन्द्र खीचड़ गुट को बड़ा झटका लगा है. रविवार को सुबह तक सांसद पुत्र अतुल खीचड़ को मंडावा से चुनाव मैदान में उतारा जाना लगभग तय था. केवल औपचारिक घोषणा होनी बाकी थी. इसके लिए वह तैयारी भी कर रहे थे, लेकिन इस बीच हुए उलटफेर में एक ही झटके में अतुल के हाथ से टिकटछीन गई. अलसुबह से इस उलटफेर की सुगबुगाहट शुरू हो गई थी. सुशीला सींगड़ा को बीजेपी ज्वॉइन करवाने के दौरान सांसद नरेन्द्र खीचड़ समेत अन्य बीजेपी पदाधिकारी भी मौजूद थे. इस दौरान उपनेता राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि सींगड़ा सोमवार को सुबह 11 बजे नामांकन दाखिल करेंगी.

ओला परिवार की करीबी मानी जाती है सींगड़ा
सुशीला सीगड़ा झुंझुनूं में कांगेस की राजनीति में करीब छह दशक से छाए रहने वाले ओला परिवार की करीबी मानी जाती है. सुशीला सींगड़ा और उनका परिवार भी पिछले करीब छह दशक से न केवल कांग्रेस, बल्कि ओला परिवार के साथ रहा है. सुशीला सींगड़ा तीन बार झुंझुनूं की प्रधान रही हैं. बीजेपी ज्वॉइन करने से पहले सुशीला सींगड़ा ने कांग्रेस नेता रीटा चौधरी पर मंडावा में पार्टी को खत्म करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि वे तीन बार झुंझुनूं पंचायत समिति की प्रधान बनीं, लेकिन उन्हें कभी ब्लॉक का टिकट भी नहीं दिया गया. वह निर्दलीय प्रधान बनकर हमेशा कांग्रेस के साथ रही हैं.

21 अक्टूबर को होना है उपचुनाव
उल्लेखनीय है कि प्रदेश में मंडावा विधानसभा सीट के साथ ही नागौर की खींवसर सीट पर भी 21 अक्टूबर को उपचुनाव होना है. खींवसर में बीजेपी का राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी (आरएलपी) से गठबंधन है. वह सीट बीजेपी ने गठबंधन के तहत आरएलपी के लिए छोड़ी है. वहां आरएलपी अपना प्रत्याशी खड़ा कर रही है. बीजेपी उसका सहयोग करेगी.

नवरात्र में हो सकता है गहलोत मंत्रिमंडल का विस्तार, एक और डिप्टी सीएम की चर्चा
Loading...

कश्मीर में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुआ जैसलमेर का जाबांज राजेन्द्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झुंझुनूं से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 29, 2019, 2:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...