Home /News /rajasthan /

Corona Lockdown 2.0: इस शहर में मुर्गियां पी रहीं गाय का दूध

Corona Lockdown 2.0: इस शहर में मुर्गियां पी रहीं गाय का दूध

वहीं पोल्ट्री फार्म संघ के कृष्‍ण कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के चलते मुर्गी उत्पादकों को हर दिन करीब 25 लाख रुपये का नुकसान हो रहा है.  (सांकेतिक फोटो)

वहीं पोल्ट्री फार्म संघ के कृष्‍ण कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के चलते मुर्गी उत्पादकों को हर दिन करीब 25 लाख रुपये का नुकसान हो रहा है. (सांकेतिक फोटो)

झुंझुनू के करीब 950 मुर्गी फार्म घाटे में जा रहे हैं और हर दिन करीब 25 से 30 लाख रुपये का नुकसान हो रहा है. लॉकडाउन (Lockdown) के बाद से ही मुर्गी व चूजों की बिक्री बिल्कुल नहीं हो रही है.

    झुंझुनू. कोरोना (Corona) संक्रमण के चलते पोल्ट्रीफार्म का काम भी ठप हो गया है. हालात ये हैं कि झुंझुनू के करीब 950 मुर्गी फार्म घाटे में जा रहे हैं और हर दिन करीब 25 से 30 लाख रुपये का नुकसान हो रहा है. लॉकडाउन के बाद से ही मुर्गी व चूजों की बिक्री बिल्कुल नहीं हो रही है. लेकिन मुर्गियों के सार संभाल और खाने पीने पर लगातार खर्च हो रहा है. लेकिन अब मंडावा क्षेत्र के एक पोल्ट्री फार्म संचालक ने ऐसा तरीका निकाला है कि उसके मुर्गी दाने करीब 50 प्रतिशत बचत हो रही है. उसने मुर्गियों को दूध पिलाना शुरू कर दिया है.

    शहर में कर्फ्यू तो दूध की सप्लाई भी रुकी
    मंडावा के वाहिदपुर गांव में रहने वाले संदीप कुमार के पास 22 गाय हैं और इसके साथ ही वो पोल्ट्री फार्म का संचालन भी करता है. गाय का दूध वो मंडावा में सप्‍लाई करता था लेकिन 4 अप्रैल को क्षेत्र में एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद इलाके में कर्फ्यू लगा दिया गया और बाहर से दूध सप्लाई पर पाबंदी लग गई. ऐसे में गाय का दूध बर्बाद होने की स्थिति बनने लगी. संदीप के पोल्ट्री फार्म पर पांच हजार मुर्गियां हैं, हर दिन हो रहे दाने के खर्च और दूध की बर्बादी को देखते हुए उन्होंने मुर्गियों को दूध पिलाने का निर्णय लिया.

    ऐसे पिलाया दूध
    राजस्‍थान पत्रिका की एक रिपोर्ट के अनुसार संदीप ने दूध में एक लीटर हाईटोन, एक लीटर लिवर टॉनिक और गुड़ मिलाकर इसे मुर्गियों को पिला दिया. इसका परिणाम ये निकला कि दस क्विंटल मुर्गी दाने की जगह पर सिर्फ पांच क्विंटल ही खर्च होने लगा. इससे संदीप को 11 हजार रुपये की बचत हर दिन होने लगी. दूध का खर्च दाने की अपेक्षा काफी कम आता है और इससे मुर्गी की ग्रोथ भी अच्छी होती है.

    सरकार को करनी चाहिए मदद
    वहीं पोल्ट्री फार्म संघ के कृष्‍ण कुमार ने कहा कि लॉकडाउन के चलते मुर्गी उत्पादकों को हर दिन करीब 25 लाख रुपये का नुकसान हो रहा है. सरकार को ऐसे लोगों की मदद करनी चाहिए. उन्होंने बताया कि लॉकडाउन के चलते क्षेत्र में करीब दस हजार लोग बेरोजगार हो गए हैं.

    ये भी पढ़ेंः COVID-19: जयपुर में नहीं थम रही पॉजिटिव मरीजों की रफ्तार, आज फिर 23 नए केस आए

    Tags: Corona epidemic, COVID 19, Jhunjhunu news, Rajasthan news

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर