लाइव टीवी

मंडावा में कांग्रेस ने दर्ज की अब तक की सबसे बड़ी जीत, रीटा चौधरी 33 हजार 704 वोटों से जीतीं

Imtiyaz Bhati | News18 Rajasthan
Updated: October 25, 2019, 10:25 AM IST
मंडावा में कांग्रेस ने दर्ज की अब तक की सबसे बड़ी जीत, रीटा चौधरी 33 हजार 704 वोटों से जीतीं
 जीत का प्रमाण-पत्र ग्रहण करतीं मंडावा की नवनिर्वाचित विधायक रीटा चौधरी 

राजस्थान के मंडावा विधानसभा क्षेत्र में हुए उपचुनाव में कांग्रेस ने अब तक की सबसे बड़ी जीत दर्ज की है. कांग्रेस की रीटा चौधरी 33 हजार 704 वोटों से विजेता बनीं.

  • Share this:
झुंझुनूं.  मंडावा विधानसभा उप चुनाव में कांग्रेस की रीटा चौधरी (Rita Chaudhary of Congress) ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ते हुए 33 हजार 704 वोटों से जीत दर्ज की है. मंडावा विधानसभा क्षेत्र (Mandawa Assembly Constituency) के लिए यह सबसे बड़ी जीत है. जीत के बाद कांग्रेस ने जहां इसे मंडावा की जनता और कार्यकर्ताओं की जीत बताया, वहीं भाजपा (BJP) ने हार का ठीकरा कर्मचारियों पर फोड़ते हुए आरोप लगाया है कि चुनाव जीतने के लिए कांग्रेस ने हर गांव में 10-10 सरपंच और 10-10 प्रधान बनाए हैं. इसी झांसे में लोगों ने वोट दिए हैं.

बीजेपी ने अपना पूरा दम-खम लगा दिया था फिर भी जनता ने किया कांग्रेस पर विश्वास

रीटा चौधरी ने जीत के बाद इसे 36 कौम के लोगों की जीत बताया है और कहा कि मंडावा की जनता ने पहले ही मन बना लिया था. जिसका कारण है कि इतनी बड़ी जीत हुई है. कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने दिन-रात काम किया है. उन्होंने कहा कि किसान और युवा वर्ग के लिए वे कार्ययोजना बनाएंगी, ताकि उनकी जो समस्याएं हैं उनका समाधान किया जा सके. उन्होंने कहा कि बीजेपी ने अपना पूरा दम-खम लगा दिया था लेकिन इसके बावजूद मंडावा की जनता ने उन पर विश्वास किया है.

साढ़े चार घंटे में हो गई पूरी मतगणना

चुनाव परिणाम की बात करें तो रीटा चौधरी को कुल 94196 मत मिले, जबकि सुशीला सीगड़ा को 60492 मत प्राप्त हुए. इसके अलावा अन्य प्रत्याशियों में से एक निर्दलीय को छोड़कर कोई भी प्रत्याशी दो-तीन संख्या से ज्यादा वोट नहीं प्राप्त कर सका. परिणाम घोषित होने के बाद रिटर्निंग अधिकारी अमित यादव ने रीटा चौधरी को प्रमाण पत्र दिया. इस मौके पर कलेक्टर रवि जैन समेत अन्य अधिकारी मौजूद थे. कलेक्टर रवि जैन ने बताया कि करीब चार से साढ़े चार घंटे में पूरी मतगणना संपन्न हो गई. यह मतगणना पूर्णतया शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न हुई.

जीत के बाद कांग्रेस पार्टी के समर्थकों के साथ नवनिर्वाचित विधायक रीटा चौधरी


हार का ठिकरा सरकारी कर्मचारियों पर फोड़ा 
Loading...

भाजपा प्रत्याशी सुशीला सीगड़ा ने परिणाम आने के बाद हार का ठिकरा सरकारी कर्मचारियों पर फोड़ा है. उन्होंने कहा है कि सरकारी कर्मचारी हमेशा सत्ता के साथ रहते है. शिक्षा मंत्री गोविंद डोटासरा के कारण कर्मचारियों ने एकतरफा कांग्रेस को वोट किए हैं और करवाए हैं. इसके अलावा कांग्रेस ने गांवों में हर गांव में 10-10 लोगों को सरपंच बनाने और 10-10 लोगों को प्रधान बनाने के झांसे दिए. जिसके कारण उन्हें वोट मिला है. लेकिन सरपंच और प्रधान बनाना का झांसा तो एक महीने बाद सामने आ जाएगा और फिर से कांग्रेस की बुरी स्थिति हो जाएगी. उन्होंने कहा कि आने वाले वक्त में वे मंडावा में बीजेपी को मजबूत करने का काम करेगी और अलसीसर के साथ-साथ अब झुंझुनूं पंचायत समिति में भी कमल खिलाने का संकल्प लिया.

ये भी पढ़ें- धौलपुर के एक और गांव में हुआ खूनी संघर्ष, कलेक्टर और एसपी ने किया दौरा
मां सरस्वती पर की गई अशोभनीय टिप्पणी को लेकर भाजयुमो ने विधायक डिंडोर का पुतला फूंका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए झुंझुनूं से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 25, 2019, 10:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...