Home /News /rajasthan /

Jhunjhunu: कोरोना ने बदली रस्म अदायगी, गमी में कपड़े और नकदी की जगह बांटे मास्क तथा सेनेटाइजर

Jhunjhunu: कोरोना ने बदली रस्म अदायगी, गमी में कपड़े और नकदी की जगह बांटे मास्क तथा सेनेटाइजर

मामला झुंझुनूं जिले के बुडाना गांव से जुड़ा हुआ है.

मामला झुंझुनूं जिले के बुडाना गांव से जुड़ा हुआ है.

गत चार माह से फैले कोरोना (COVID-19) ने आम आदमी की जीवन शैली को पूरी तरह बदल डाला है. कोई भी कार्य इससे अछूता नहीं है. यहां तक की इसके चलते अब रस्मों रिवाज (Rituals) भी बदलने लग गए हैं. इसकी एक बानगी राजस्थान के झुंझुनूं (Jhunjhunu) जिले में देखने को मिली है.

अधिक पढ़ें ...
झुंझुनूं. गत चार माह से फैले कोरोना (COVID-19) ने आम आदमी की जीवन शैली को पूरी तरह बदल डाला है. कोई भी कार्य इससे अछूता नहीं है. यहां तक की इसके चलते अब रस्मों रिवाज (Rituals) भी बदलने लग गए हैं. इसकी एक बानगी राजस्थान के झुंझुनूं (Jhunjhunu) जिले में देखने को मिली है.

शिक्षा के मामले प्रदेश में अग्रिम पंक्ति में शुमार झुंझुनूं जिले की पूर्व महिला सरपंच ने कोरोना के कारण रस्मों रिवाज में जब बदलाव किया तो एकबारगी तो उसे विरोध झेलना पड़ा, लेकिन बाद में लोग उसकी सराहना करते नहीं थक रहे. इस महिला ने परिवार में हुई बुजुर्ग के निधन के बाद 11वें दिन रिश्तेदारों को दिये जाने वाले कपड़ों और नगदी की जगह मास्क और सेनेटाइजर बंटवाये हैं.

देहांत के 11वें दिन स्नान की रस्म होती है
मामला झुंझुनूं के बुडाना गांव से जुड़ा हुआ है. यहां पूर्व सरपंच और पीसीसी सदस्य सुमित्रा सैनी ने यह नई पहल की है. सुमित्रा सैनी ने बताया बताया कि उसके चाचा ससुर का देहांत हो गया था. देहांत के 11वें दिन स्नान की रस्म होती है. परंपरा के अनुसार इस रस्म पर परिवार की महिलाओं को कपड़े और नकदी दी जाती है. लेकिन उसने इन सब को बंदकर परिवार की महिलाओं को ही नहीं पूरे गांव की महिलाओं को मास्क और सेनेटाइजर वितरित करवाये हैं.

Jaipur: सरकार की यह योजना करेगी किसानों को मालामाल, 60% तक अनुदान भी मिलेगा, ऐसे उठाएं लाभ

विरोध झेलना पड़ा, लेकिन अब सराहना हो रही है
बकौल सुमित्रा इस फैसले का विरोध भी झेलना पड़ा. परिवार की बड़ी बुजुर्ग महिलाओं ने यहां तक कह दिया कि देने के लिए कपड़े नहीं हैं क्या ? लेकिन सुमित्रा अपने निर्णय पर अडिग रही और वह कोरोना महामारी से लोगों को जागरुक करने का काम करने में पीछे नहीं हटी. सुमित्रा सैनी ने बताया कि गमी का माहौल था. गमी में बैठने आने वाले लोगों को भी मास्क और सेनेटाइजर वितरित उनको जागरुक किया गया. अब सुमित्रा की इस काम की गांव के लोग सराहना करते नहीं थक रहे. बच्चों के लिए भी खास मास्क वितरित किए गए.

Rajasthan: धार्मिक स्‍थल खोलने को लेकर गहलोत सरकार का बड़ा ऐलान, 1 जुलाई से लागू होगा नया आदेश

महिला शिक्षा में अग्रणी है झुंझुनूं
उल्लेखनीय है कि कोरोना महामारी से बचाव के लिए राज्य सरकार ने जागरुकता अभियान चला रखा है. झुंझुनूं जिला चूंकि राज्य में काफी शिक्षित की श्रेणी में आता है. खास तौर महिला शिक्षा में यह जिला राज्य में अग्रणी है. इस शिक्षा का यहां काफी असर भी नजर आ रहा है. खुशी हो गमी हो लोग कोरोना की गाइडलाइन को फॉलो कर रहे हैं.

Tags: COVID 19, Jhunjhunu news, Rajasthan News Update

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर