• Home
  • »
  • News
  • »
  • rajasthan
  • »
  • COVID-19: शादी की रस्में अधूरी छोड़ SDM सुप्रिया और RPS विकास निभा रहे हैं ड्यूटी

COVID-19: शादी की रस्में अधूरी छोड़ SDM सुप्रिया और RPS विकास निभा रहे हैं ड्यूटी

एसडीएम सुप्रिया अपनी ड्यूटी निभाती हुई

एसडीएम सुप्रिया अपनी ड्यूटी निभाती हुई

चूरू जिले के श्योदानपुरा गांव की रहने वाली एसडीएम सुप्रिया का विवाह 15 मार्च को चूरू जिले के रतनपुरा निवासी आरपीएस विकास कुमार के साथ हुआ था. शादी की सभी रस्में पूरी होती इससे पहले वैश्विक महामारी कोरोना के चलते पुलिस अधिकारी विकास को 18 मार्च को जयपुर बुला लिया गया. इधर सुप्रिया को 19 अप्रेल को झुंझुनूं बुला लिया गया था.

  • Share this:
झुंझुनूं. राजस्थान के झुंझुनूं में बस उन्होंने सात फेर (Seven Ferra) लिए. शादी के बाद की सभी रस्में अधूरी थी, लेकिन फर्ज की राह में उन्होंने रस्मों की बजाय ड्यूटी को प्राथमिकता (Gave Priority to duties) दी और देश सेवा में अपना योगदान देने चल पड़े. यह दास्तान है बुहाना के एसडीएम स़ुप्रिया एवं उनके पति जयुपर पुलिस में तैनात आरपीएस विकास की.

15 मार्च को दोनों ने लिए फेरे

चूरू जिले के श्योदानपुरा गांव की रहने वाली एसडीएम सुप्रिया का विवाह 15 मार्च को चूरू जिले के रतनपुरा निवासी आरपीएस विकास कुमार के साथ हुआ था. शादी की सभी रस्में पूरी होती इससे पहले वैश्विक महामारी कोरोना के चलते पुलिस अधिकारी विकास को 18 मार्च को जयपुर बुला लिया गया. इधर सुप्रिया को 19 अप्रेल को झुंझुनूं बुला लिया गया था. नवविवाहित युगल के हाथों से शादी की मेहंदी भी नहीं सूखी थी कि दोनों अपनी ड्यूटी निभाने अपनी मंजिल की ओर चल पड़े. न किसी से कोई गिला न और किसी तरह की शिकायत. दोनों अपनी ड्यूटी बखूबी निभाग रहे हैं.

सुप्रिया ने कहा कि दिन में समय मिलने पर मोबाइल पर बात करके एक-दूसरे की कुशलक्षेम पूछने के बाद फिर काम पर लग जाते है. इतना ही नहीं सुप्रिया की जिम्मदारी तो और भी बढ़ गई. उपखंड अधिकारी का पद रिक्त होने के कारण उन्हें पूर्णबंदी एवं राजस्व कार्यों के निपटारे के लिए 31 मार्च को उनको बुहाना लगा दिया गया.

फुर्सत मिलती है तो पति से हो पाती है बात

एसडीएम सुप्रिया बताती है कि दिनभर कोरोना कार्य में व्यस्तता के कारण जब फुर्सत मिलती है तो विकास से बात हो जाती है. दोनों का मानना है कि पहले देश सेवा करते हुए कोरोना से लोगों को बचाने की मुहिम में पूरा योगदान देना है.

ये रस्में अधूरी रह गईं

अधूरी शादी के बाद सालासर बालाजी में गठजोड़े की जात और ननिहाल जाकर आने की रस्में कोरोना में ड्यूटी लगने के कारण अधूरी रह गईं. इनके जेठ-जेठानी भी अपनी ड्यूटी पर तैनात हैं. एसडीएम सुप्रिया के जेठ एवं जेठानी वर्तमान समय में चूरू के भरतिया हॉस्पिटल में डॉक्टर के पद पर कार्यरत है. उनकी भी कोरोना संक्रमण की रोकथाम में डयूटी लगी हुई है.

ये दिया संदेश

एसडीएम सुप्रिया का संदेश है कि कोरोना डयूटी पर लगे सभी विभागों के कर्मचारियों एवं अधिकारियों के साथ कोई भी बदसलूकी नहीं करें. बीमारी को छुपाने की बजाय सामने आए. सभी लोग घरों में सुरक्षित रहें. कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंस रखे. अति आवश्यक होने पर ही घर से निकले. जरूरतमंद लोगों की सेवा करने के लिए आगे आएं. सरकार के दिशा निर्देशों की पालना करेंगे तो कोरोना से जीत अवश्य ही मिलेगी.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में 25 नए पॉजिटिव केस, 1,101 हुई कोरोना मरीजों की संख्या

राजस्‍थान: आग की चपेट में आए उदयपुर के जंगल, अब धधक रही हैं अरावली की पहाड़िया

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज